बड़ा खुलासा : कोयला घोटाले के सबंध में पूर्व राज्यमंत्री ने कहा, सभी निर्णय मनमोहन सिंह ने लिए थे

0
156
पूर्व राज्यमंत्री ने कहा,सभी निर्णय मनमोहन सिंह के थे-पीटीआई फोटो
पूर्व राज्यमंत्री ने कहा,सभी निर्णय मनमोहन सिंह के थे-पीटीआई फोटो

कोयला घोटाले के मुख्य आरोपियों में से एक पूर्व कोयला राज्य मंत्री दसारी नारायण राव ने एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि कोयला ब्लाकों के जितने भी आबंटन हुए थे उनके बारे में सभी निर्णय तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने स्वयं लिए थे I

आपको बताते चलें कि जिस समय यह घोटाले हुए हैं उस समय कोयला मंत्रालय की जिम्मेदारी स्वयं तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ही संभाल रहे थे। आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता देते हैं कि दसारी नारायण राव झारखंड के अमरकोंडा के मुरगादंगल कोयला ब्लाक के आबंटन में हुए कथित घोटाले से जुड़े मामले के मुख्य आरोपियों में से एक हैं।

देश की राजधानी दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में कल पेशी के बाद बाहर खड़े संवाददाताओं से बातचीत के दौरान पूर्व कोयला राज्य मंत्री ने कहा, ‘‘मैं केवल राज्यमंत्री था। कोयला ब्लाक आबंटन की सभी शक्तियां तत्कालीन कोयला मंत्री के पास थीं और उस समय कोयला मंत्री मनमोहन सिंह थे। सभी निर्णय प्रधानमंत्री सिंह ने स्वयं लिए हैं।’’ ज्ञात हो कि कल दसारी नारायण राव और उद्योगपति कांग्रेस नेता नवीन जिंदल और अन्य आरोपी कल पटियाला हॉउस कोर्ट की विशेष अदालत में पेश हुए थे।

आपको ज्ञात हो कि यह पूरा मामला जिंदल ग्रुप की कंपनियों जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड तथा गगन स्पांज आयरन प्राइवेट लिमिटेड को अमरकोंडा मुरगादंगल कोयला ब्लाक के आबंटन में कथित अनियमितता से जुड़ा है।

राव के अलावा झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, जिंदल रीयल्टी प्राइवेट लि. के निदेशक राजीव जैन, गगन स्पांज आयरन प्राइवेट लि. :जीएसआईपीएल: के निदेशक गिरीश कुमार सुनेजा समेत 14 को इस मामले में आरोपी बनाया गया है। news and photo credit – Bhasha PTI

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

sixteen + three =