ह्त्या या दुर्घटना की गुत्थी के बीच उलझी पुलिस

0
67

बीघापुर/उन्नाव (ब्यूरो) थाना क्षेत्र के ओसियां गांव में शुक्रवार को 12 वर्षीय बालक के बाग में मिले शव की गुत्थी पुलिस की छानबीन में हत्या या दुर्घटना से हुई मौत के बीच उलझ कर रह गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बहाने चुप बैठी पुलिस परिजनों द्वारा हत्या किये जाने की आशंका को मानने को तैयार नहीं है। थाना क्षेत्र के ओसियां गांव में षुक्रवार को 12 वर्शीय बालक का बाग में मिले शव की गुत्थी पुलिस की छानबीन में हत्या या दुर्घटना से हुई मौत के बीच उलझ कर रह गई है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बहाने चुप बैठी पुलिस परिजनों द्वारा हत्या किये जाने की आषंका को मानने को तैयार नहीं है। शुक्रवार को दोपहर बाद ओसियां में 12 वर्शीय बालक शिवांक पुत्र प्रदीप कुमार दीक्षित जो कि घर से गावं के बाहर गायें चराने गया था, साथ उसके गोपाली पुत्र सधोल उम्र 8 वर्श, कोमल पुत्री संतोश 6 वर्श भी गए थे। बाग में शिवांक का शव आम के पेड़ से लटका होने की सूचना साथ के चरवाहों ने परिजनों को आकर दी थी। परिजनों बाग से शव को आनन फानन में घर उठा लाए और पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने षव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। पुलिस का मानना है कि बालक की मौत के पीछे के कारण स्पष्ट नहीं है कि उसने आत्महत्या क्योंकि वहीं पारिवारिक स्थिति को देखते हुए हत्या किये जाने की भी सम्भावना नहीं लगती है। परिजनों ने गांव में एक पुरानी लड़ाई को लेकर हत्या किये जाने की आशंका जता रहे हैं क्योंकि मृतक की पीठ  में चोटों के निशान परिजनों को हत्या किए जाने की आशंका को बल दे रहे हैं। किन्तु पुलिस परिजनों की आशंका को मानने को तैयार नहीं है। ग्रामीण इसे खेल-खेल में आकस्मिक दुर्घटना के रूप में मौत होना देख रहे हैं। क्षेत्राधिकारी बीघापुर श्यामा कान्त त्रिपाठी का कहना है कि अभी हत्या या आत्महत्या का निष्कर्ष नहीं निकल पा रहा है, मामले की छानबीन की जा रही है।

रिपोर्ट – मनोज सिंह 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY