पुलिस की लापरवाही से नहीं रुक रही चोरी की वारदातें

0
115

बीघापुर/उन्नाव(ब्यूरो)- थाना क्षेत्र में हो रहीं ताबड़तोड़ चोरियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं। एक महीने के अन्तराल में अब तक लगभग दो दर्जन चोरियां हो चुकी हैं लेकिन पुलिस अब भी निश्क्रिय बनी हुई है। एक भी चोरी का खुलासा नहीं कर सकी है। जिससे चोरों के हौसले बुलंद हैं और वे घटना दर घटना अंजाम दे रहे हैं।

शुक्रवार को सदर बाजार बीघापुर सब्जी लेने आए थाना क्षेत्र के दुंदपुर मवइया निवासी लाल बहादुर पुत्र जीत बहादुर की मोटरसाइकिल प्लैटिना यूपी 35 एल 5066 चोरों ने पार कर दी। गौरतलब है कि मोटरसाइकिल अति व्यस्त रहने वाली सड़क के किनारे, नगर पंचायत कार्यालय के सामने खड़ी थी, उसके बाद भी चोरी हो गई। पुलिस की निश्क्रियता और टालू रवैये से लोगों में आक्रोष बढ़ता जा रहा है। कस्बे से ही 15 दिन के अन्दर दो लोडर और दो मोटरसाइकिलें चोरी हो जाना पुलिस की सिथिलता ही दर्षाता है।

पुलिस कप्तान भले ही बीघापुर थाना पुलिस की पीठ थपथपा रही हों किन्तु बीघापुर पुलिस के खाते में केवल विफलताएं ही हैं। इन्देमऊ निवासी चमन पासवान के गले से अकवाबाद के पास लुटेरों ने गले की चेन छीन ली थी, ओसिंया गांव में श्रीप्रकाष दीक्षित, ब्रज किषोर मिश्रा, सीता राम कुषवाहा, हरी षंकर, लल्ला दीक्षित के घरों में लाखों की चोरियां, अकवाबाद में उमेष पासी, रुझेई में आनंदेष्वर, बीघापुर में सन्तोश कुमार, पाही में विवेक पटेल, लाल कुआं में नन्हूं चैधरी, बीघापुर में गोपाल जायसवाल के यहां चोरियां, बरवट के पास लूट, मंझिगवा सेवक अमित कुमार त्रिवेदी के घर सेंध, बीघापुर से अजीत सिंह का पिकअप चोरी, बीघापुर से ही राजकिषोर गुप्ता का लोडर चोरी आदि ऐसी घटनाएं हैं जिनका थाना पुलिस आज तक खुलासा नहीं कर सकी। अब कप्तान भले ही अपनी पुलिस का महिमामण्डन करें परन्तु क्या इसके बाद भी बीघापुर पुलिस तारीफों की हकदार है? यह एक बड़ा सवाल बन गया है।

रिपोर्ट- मनोज सिंह

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here