क्राइम कंटोल में फेल हुई जनपद पुलिस, दहशत में लोग 

0
47

जालौन (ब्यूरो) क्राइम कंटोल में जिले की पुलिस किस कदर फेल हो चुकी है, इसकी बानगी मंगलवार की रात में देखने को मिली। जब एक ही रात में जिले में अलग-अलग जगहों पर हत्या की दो वारदातें हो गईं। इससे पूरा जिला थर्रा उठा। कदौरा में खेत पर सो रहे अधेड की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। इस वारदात में किन लोगों का हाथ है, इसकी जानकारी अभी नही हो पाई है। वहीं दूसरी वारदात माधौगढ के बंगरा में हुई। जहां पर घर जा रहे अधेड की चुनावी रंजिश के चलते गोली मारकर हत्या कर दी गई। इन दोनों ही वारदातों में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

कदौरा थाना क्षेत्र के ग्राम कानाखेडा निवासी दुष्यंत मोहन सिंह 45 वर्ष पुत्र हरीमोहन सिंह गांव में ही अपने खेत पर रहता था। मंगलवार की रात अज्ञात लोगों ने उसकी धारदार हथियार से हत्या कर दी। उसके सिर व सीने में कई घाव मिले हैं। जब ग्रामीणों ने उसका शव खेत पर देखा तो आनन-फानन में इसकी सूचना पुलिस को दी। परिजन भी जानकार पाकर मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया गया है कि मृतक के माता-पिता व भाई कदौरा में रहते हैं और वह अकेला ही गांव के खेत पर रहता था। मृतक की शादी भी नहीं हुई थी। हालांकि हत्या को लेकर परिजनों ने अभी तक किसी पर भी आरोप नहीं लगाया है। हत्या की वजह क्या है इसका भी पता नहीं चल सका है। मृतक के पिता हरीमोहन ंिसह की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

वहीं माधौगढ कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बंगरा निवासी हरीओम पचौरी 46 वर्ष पुत्र हरीसेवक पचौरी मंगलवार की देर शाम कस्बे के चौराहे पर स्थित एक दुकान से बीडी-गुटखा लेकर घर जा रहा था। तभी गांव के ही निवासी दुष्यंत गुर्जर ने अपने बेटे शिवम, साथी राहुल पुत्र रामपाल, रोहित गुर्जर पुत्र पुण्यप्रताप सिंह, पंकज ंिसह पुत्र नरेंद्र ंिसह, अवधेश ंिसह पुत्र शत्रुघन ंिसह के साथ मिलकर उसे गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर मृतक के परिजन व पुलिस मौके पर पहुंची। हरीओम को अस्पताल ले जाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वारदात को लेकर मृतक के बेटे राज पचौरी ने उक्त आरोपियों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। वारदात की वजह चुनावी रंजिश बताई गई है। हरीओम व दुष्यंत दोनों ने ही दो वर्ष पूर्व संपन्न हुए प्रधानी चुनाव में उम्मीदवारी पेश की थी। तभी से दोनों पक्षों में रंजिश शुरू हो गई थी। इसी के चलते हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उनकी गिरफतारी के लिए दबिश देनी शुरू कर दी है।

वहीं एक रात में हुई हत्या की इन दो वारदातों से पूरा जिला थर्रा उठा है। इससे पुलिस के क्राइम कंटोल के दावों की पोल खुल गई है। अभी तक किसी भी वारदात में पुलिस ने कोई गिरफतारी नहीं कर पाई है। दोनों मामलों में छानबीन की जा रही है।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY