फर्जी पासपोर्ट बनाने के चक्कर में पुलिस के हत्थे चढ़ा युवक

0
94

नगरा/बलिया। फर्जी नाम से पासपोर्ट बनवाने का चक्कर युवक को महंगा पड़ा।पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर युवक को हिरासत में ले ली है।हालांकि पुलिस इस मामले में अपनी पीठ थपथपा रही है लेकिन पुलिस ने बदले नाम इरशाद का सत्यापन कर दी थी।फर्जी नाम का राज तब खुला, सत्यापन एलआईयू को मिला तो पता चला कि इरशाद गुफरान है।

मनियर थाना क्षेत्र के चकफूल निवासी गुफरान सिद्दीकी पुत्र समीर सिद्दीकी बलिया दफ्तर में पासपोर्ट के लिए नगरा थाने के डुमरिया बोझ का पता देकर आवेदन किया था।आवेदन में गुफरान ने अपना नाम इरशाद लिखा था।एसपी दफ्तर से पासपोर्ट की जांच नगरा थाने आई तो पुलिस डुमरिया बोझ गांव गई तो पता चला कि इस नाम का युवक गांव में नही है।पुलिस ने अपनी आख्या एसपी दफ्तर भेज दी।पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में जब मामला आया तो एसपी ने मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया।नगरा पुलिस एसपी के निर्देश पर युवक के खिलाफ कूटरचित दस्तावेज तैयार कर पासपोर्ट बनवाने के मामले में धोखा धड़ी व पासपोर्ट अधिनियम का मुकदमा दर्ज करने के बाद युवक को हिरासत में ले ली है।नगरा पुलिस इस कैसी जांच करती है, गुफरान की जांच से ज्ञात हो गया।इस जांच की जानकारी जिले के आला अफसरों को भी है।क्योंकि नगरा पुलिस गुफरान से इरशाद बने युवक को बगैर जांच इरशाद मानकर पासपोर्ट आवेदन का सत्यापन कर दी है।इरशाद का असली चेहरा तब सामने आया, जब जांच एलआईयू को मिली और एलआईयू ने जांच में गुफरान से बने इरशाद को फर्जी पाया।गुफरान नरहेजी पीजी कालेज में स्नातक का छात्र है।उसने बताया कि मेरा घर नगरा थाना क्षेत्र के उमरिया बोझ है लेकिन हमलोग मनियर थाना क्षेत्र के चकफूल गांव में रहते है।मनियर थाने में मेरे खिलाफ एनसीआर दर्ज है।इसलिए एजेंट के कहने पर गुफरान से इरशाद नाम बदलकर आवेदन किया है।

रिपोर्ट दिग्विजय सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here