दलालों के वर्चस्व के आगे पुलिस को लिखना पड़ा पेशबन्दी में छेडछाङ का अभियोग

0
65

पुरवा/उन्नाव(ब्यूरो)- दलालों के वर्चस्व के आगे पुलिस को लिखना पडा पेशबन्दी में छेडछाङ का अभियोग, वही ग्रामीणो के अनुसार घटना सत्य से परे है| घटना डेढ माह पूर्व की बतायी गयी है| शिकायतकर्ता पर कोतवाली पुलिस ने जबरन दुस्कर्म करने के प्रयास का अभियोग पंजी कृत कर जांच सुरु कर दिया है ।

प्राप्त विवरण के अनुसारा मामला बस्ती खेडा मजरे चमियानी का है, जहां मुन्नी पुत्र रामअवतार के शिकायती-पत्र के अनुसार 7 मईं 2017 की शाम को मैं गगांव की बाजार गया था पत्नी रामश्री छत पर अकेली थी, इसी बीच पङोसी हरीशंकर पुत्र मानिक जो शुक्ला खेड़ा थाना बिहार उन्नाव का रहने वाला है, मौजूदा समय में ग्राम बस्ती खेडा में स्थाई रूप से रह रहा है ने उपरोक्त दिनांक 7 मई को दीवार के दाढा से चढ कर छत पर पहुचा जहां पतनी मेरी अकेली थी को बदनियती से पकङ कर जबरन दुस्कर्म करने का प्रयास करने लगा| जब पतनी द्वारा विरोध किया गया तो उसको जमीन पर पटक दिया और लात मार कर उसको निवस्त्र करके अपनीं ओर खीच लिया, जिससे उसकी पीठ छिल गयी| पत्नी ने शोर मचाया और अपनी इज्जत बचाने का प्रयास भी किया| उसी समय बजार से मै और मेरे साथ राम प्रताप पुत्र बैजनाथ नि० ग्राम मेहरबान खेडा थाना बाघापुर तो अभियुकत हरीशंकर छोड कर भाग गया।

अब यहां बताना जरुरी है कि पुलिस रिकार्ड के अनुसार 14 मई 2017 को हरीशंकर पुत्र मानिक ने रामश्री पत्नी मुन्नी लाल व मुन्नी लाल पुत्र राम अवतार नि० ग्राम बस्ती खेडा के विरुध एक मारपीट की एन० सी० आर० लिखाया था, जिसकी पेशबन्दी में मुन्नी लाल ने छेङछाड एवं दुष्कर्म करने के प्रयास का अभियोंग दर्ज कराया है।

रिपोर्ट- मो० अहमद

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY