कुंडा में खाकी की गुंडई, पत्रकार को दी गाली, किया अभद्र व्यवहार, दी जेल भेजने की धमकी

0
245

प्रतापगढ़ ( ब्यूरो) : माफियाओं और राजनितिक रसूख के लोगों के आगे नतमस्तक रहने वाली कुंडा इलाके की पुलिस इस समय पत्रकारों को अपना निशाना बना रही है। वर्दी की रौब के नशे में चूर इन पुलिस वालों के खिलाफ शिकायत के बाद भी अधिकारी भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहें हैं। जिससे आम जनता के साथ – साथ अब ये पुलिस वाले पत्रकारों के साथ भी अभद्र व्यवहार करने लगे हैं।

सूबे के नए सीएम चाहे जितना प्रयास करें कि पुलिस पब्लिक और पत्रकारों के साथ अच्छा बर्ताव करे लेकिन विभाग के अंदर छुपे कुछ खाकी धारी अपनी कार्य प्रणाली से समूचे विभाग को बदनाम कर रहें हैं। अपनी राजनितिक पहुँच और उच्च अधिकारियों के संरक्षण के कारण वे कुर्सी और थाने को अपनी पुश्तैनी जागीर समझ रहें हैं।

मामला प्रतापगढ़ जिले के कुंडा कोतवाली से जुड़ा हुआ है। जहां कवरेज करने गए एक पत्रकार के साथ कोतवाली के दरोगा ने अभद्र व्यवहार किया और गाली देते हुए पुनः कोतवाली में आने पर जेल भेजने की धमकी दे डाली।

28 मार्च को दैनिक लोक मित्र के तहसील प्रभारी कुलदीप विश्वकर्मा दोपहर में समाचार संकलन के लिए कोतवाली गए और जैसे ही वे अपनी बाइक खड़ी कर रहें थें, तभी कोतवाली में तैनात दरोगा मनोज प्रताप सिंह कुलदीप को गाली देने लगा। गाली देते हुए बोला कि जो बड़े पत्रकार बनते हो, कोतवाली में दोबारा कभी दिखाई दिए तो जेल भेज दूंगा। पत्रकार कुलदीप ने पूरे मामले की शासन स्तर से शिकायत करने के बाद आरोपी दरोगा के खिलाफ कोतवाली में तहरीर भी दी है।

इसके पहले भी कुंडा तहसील के अन्तर्गत स्थित मानिकपुर थाने के एसओ ने होली के दिन पुलिस द्वारा होरियारों, दुकानदारों की पिटाई की खबर को कवर करने गए अखण्ड भारत के रिपार्टर पंकज मौर्य के साथ भी अभद्र व्यवहार किया था और जेल भेजने की धमकी दी थी। इस मामले में भी इलाके के पीड़ित लोगो और पत्रकार पंकज ने अधिकारियों से लेकर शासन तक से शिकायत की थी लेकिन आज तक आरोपी एसओ के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई। अब देखना दिलचस्प होगा कि योगी राज का असर बेल्हा के अधिकारियों पर कितना पड़ता है??

रिपोर्ट – विश्वदीपक त्रिपाठी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY