पुलिस की बर्बरता से आज भी सहमे है भगवन्तपुर के ग्रामीण

0
185


मैनपुरी। पुलिस की बर्वरता और तांडव से भगवन्तपुर के ग्रामीण आज भी दहशत में है। ग्रामीणों में पुलिस का इतना खौफ बैठ गया है कि वे वापस गांव लौटने को तैयार नहीं है। पुलिस ने ऐसा कहर वरपाया कि दर्जनों वाहन तोड़ दिये घरों में घुसकर नगां नाच किया। महिलाओं और लडकियों के साथ मारपीट करते हुये पुलिस ने घर में रखें कीमती सामान को भी नष्ट कर दिया है। मंगलवार को सपा सांसद तेजप्रताप यादव, सदर विधायक राजकुमार यादव गांव पहुचे और उन्होने पीड़ित ग्रामीणों का हालचाल लिया। सांसद ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया है कि उन्हें न्याय दिलवाया जायेगा और आरोपी पुलिस के विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी।

बताते चले कि थाना औंछा के ग्राम भगवन्तपुर में रविवार की शाम मतदान को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच अच्छा खांसा बबाल हुआ था। ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस कर्मियों ने उन्हें मतदान से रोकते हुये मारपीट की थी। उधर पुलिस का कहना है कि ग्रामीणों ने फर्जी मतदान को लेकर सरकारी कर्मचारियों पर पथराव किया था। आरोप है कि मतदान के बाद देर रात थाना घिरोर, कुरावली, औंछा पुलिस भारी संख्या में भगवन्तपुर पहुची और कई घरों में जमकर तोडफोड की। ग्रामीणों का आरोप है कि एक दर्जन से अधिक वाहन क्षतिग्रस्त कर दिये। रायसिंह की पुत्री नीतू ने आरोप लगाते हुये बता या कि जब पुलिस उसके घर पहुची तो वह अकेली थी। नीतू ने बताया कि उसने पुलिस वालों से कहा कि मैं घर पर अकेली हूॅ परिवार के लोग वाहर गये हैं। इसके बाद भी पुलिस उसके घर में घुस गई और पुलिस ने घर में जमकर लूटपाट की बाद में कीमती सामान नष्ट कर दिया। नीतू ने बताया कि पुलिस ने मुझेएक कमरे में बंद कर दिया था। पुलिस ने राजेश यादव, भूमिराज, सतीश चन्द्र, जयसिंह, शैलेन्द्र, कृपाल सिंह सहित दर्जनों घरों मे घुसकर कहर बरपाया है। इस दौरान पुलिस ने रामभेजी, अमरावती सहित कई महिलाओं के साथ भी बेरहमी से मारपीट की है। पुलिस ने अधिवक्ता जगपाल सिंह को वेरहमी से मारपीटकर घायल कर दिया है। दूसरी ओर घटना के बाद से गांव में दहशत भरा सन्नाटा पसरा हुआ है। मंगलवार की सुबह सपा सांसद तेज प्रताप उर्फ तेजू यादव, सदर विधायक राजकुमार उर्फ राजू यादव, करहल से सपा विधायक सोवरन सिंह यादव गांव पहुचे। सपा नेताओं के पहुचते ही सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गये और पुलिस की गुण्डागर्दी के विरूद्ध नारेवाजी करने लगे। सांसद ने ग्रामीणोंको समझा बुझाकर शांत किया। सांसद ने ग्रामीणों को भरोसा दिया है कि उन्हे न्याय मिलेगा और आरोपी पुलिस के विरूद्ध जांच कराई जायेगी। दोषी पुलिस को किसी भी हालत में छोड़ा नहीं जायेगा।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here