बनारस में पुलिस अधिकारियों को एडीजी की नसीहत, जेबकतरों को नहीं अपराधियों को कीजिये गिरफ्तार

0
58

वाराणसी: सभी जगह निकाय चुनाव से पहले अपराध को नियंत्रित करें। जेबकतरों की जगह अपराधियों को पकड़ें में लगे ताकि चुनाव शान्ति पूर्ण ढंग से सम्पन्न हो सके। उक्त बातें कमिश्नरी सभागार में सूबे के एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्रा ने कही। राज्य निर्वाचन आयुक्त के साथ सूबे के एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्रा भी वाराणसी पहुंचे थे। उन्होंने चुनाव के लिए मिर्ज़ापुर, आज़मगढ़ और बनारस के पुलिस अधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों संग कानून व्यवस्था की समीक्षा की।

जेबकतरे नहीं अपराधियों को करें अरेस्ट-
राज्य निर्वाचन आयुक्त के साथ तीनो ज़ोन की निकाय चुनाव सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने पहुंचे एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्र ने कहा कि ‘ जेबकतरों और छोटे मोटे लोगों को पकड़ने से कुछ नहीं होगा। अधिकारी उन अपराधियों पर शिकंजा कसे जो निकाय चुनाव में अराजकता फैला सकते है। जेबकतरों को पकड़ने से कुछ नहीं होगा। जिले के जिलाधिकारी और एसएसपी और एसपी जिले की कानून व्यवस्था में सुधार लायें। जिनसे ख़तरा है उन्हें जिला बदर करें।

48 घंटे पहले सुनिश्चित करें शराब बंदी-
एडीजी कानून वयवस्था ने साफ़ करते हुए कहा कि जिस जगह चुनाव होंगे वहां 48 घंटे पहले शराब की बिक्री पूरी तरह बंद कराई जाए। हर हाल में शराब की बिक्री बंद रहनी चाहिए। यदि मतदान के 48 घंटे पहले शराब की बिक्री हुई तो कार्रवाई सुनिश्चित होगी।

अपराधियों पर नाकाफी कार्रवाई से असंतुष्ट-
एक हफ्ता पहले पूर्वांचल की क्राइम मीटिंग करने बनारस आये एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्र ने आज कहा कि जिस तरह से अपराधियों की गिरफ्तारी की कार्रवाई मंद गति से चल रही है उससे असंतुष्ट हूं। पुलिस जल्द से जल्द उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित करे। किसी भी हाल में अपने अपने ज़ोन में शराब और हथियारों की स्मगलिंग पर अंकुश लगायें। ताकि आने वाले निकाय चुनाव में कोई भी व्याधान उत्पन्न न हो। हिस्ट्रीशीटरों के नॉन बेलेबल वारंट जारी कर उन्हें गिरफ्तार करें।

निकाय चुनाव में करें टेक्नोलॉजी का उपयोग-
एडीजी आदित्य मिश्रा ने सभी आला अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि चुनाव के दौरान टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें ख़ास तौर पर वेब कास्टिंग, वीडियोग्राफी और ड्रोन कैमरों से मतदेय स्थल और मतगणना स्थल की निगरानी सुनिश्चित करें।

रिपोर्ट- सर्वेश कुमार यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY