आदित्य अपहरण कांड में पुलिस ने उठाया पर्दा

0
69


धनबाद (ब्यूरो) अपहरण कर फिर हत्या करने के एक मामले से शनिवार को पर्दा उठाते हुए हत्याकांड की गुत्थी को धनबाद पुलिस ने सुलझा लिया है। साथ ही पुलिस ने कांड में शामिल दो अपराधियों को भी गिरफ्तार किया है। सिटी एसपी पियुष पांडेय ने बताया कि 3 मई 2017 को रात्रि 8.30 बजे आदित्य नोनिया को उसी के दो दोस्त संतोष एवं सोनू (केन्दुआडीह) ट्रेन से जमुई के गिद्धौर ले गए।

पूर्व नियोजित योजना के अनुसार संतोष व सोनू के दो अन्य साथी राणा एवं नंदन सभी को लेकर एक किराये के मकान में ले गए। किराये के माकन में पहले आदित्य को खाना खिलाया, फिर उससे उसका एटीएम कार्ड और उसका पिन मांगा। जब आदित्य ने एटीएम कार्ड और पिन नंबर नहीं बताया तो रॉड से उसके सर पर वार किया गया।
उसके बाद सोनू, राणा तथा नंदन ने गमछे से उसका गला घोटकर हत्या कर दी। अपराधियों ने आदित्य की पहचान छुपाने की नियत से रॉड से उसके चेहरे को भी क्षत-विक्षत कर दिया।

पुलिस की बढ़ती दबीश के कारण सोनू ने अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। शुक्रवार की रात नंदन और राज को उसकी मौसी के घर से गिरफ्तार कर लिया गया है।
उन्होंने अपने स्वीकरोक्ति बयान में अपहरण और हत्या की बात को स्वीकार कर लिया है। पत्रकार वार्ता में सरायढेला इंस्पेक्टर निरंजन तिवारी भी शामिल थे।
हत्या के कारणों में सात लाख की बात का खुलासा हुआ है।

जिले की पुलिस को लगातार मिल रही सफलता में एक कड़ी शनिवार को और जुड़ गई परंतु इस अपहरण एवं हत्याकांड के पीछे आदित्य के दोस्तों ने उसकी हत्या के लिए सात लाख की फिरौती की मांग हुआ था जिसका खुलासा अब हो पाया है जिससे मृतक आदित्य के परिजनों के साथ ही जिले के लोगों को भी उसके हत्या ने संलिप्त अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा हो इसकी आमजन को भी इंतजार है।

रिपोर्ट – गणेश कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY