भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हुए पुलिसिया हथकंडे का शिकार भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हुए पुलिसिया हथकंडे का शिकार 

0
60

रायबरेली (ब्यूरो)- भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भी सोमवार को पुलिसिया हथकंडे के शिकार हुये। जिसके चलते वह सामूहिक नरसंहार का घटनास्थल देखने के साथ ही मृतक के परिजनों को सांत्वना के दो बोल भी नहीं बोल पाये। बाद में उन्होंने पत्रकार वार्ता कर अपनी भावनाओं से पत्रकारों को अवगत कराया। भले ही वह अपने ही एक मंत्री की संलिप्तता के सवाल पर झल्ला गये, लेकिन अपराधियों के प्रति उनका रवैया कठोर ही रहा।

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी सोमवार को पार्टी के प्रतिनिधि के रूप में ऊचाहार के अपटा गांव में हुई पांच युवकों की सामूहिक हत्या के तथ्यों की जानकारी एवं पीड़ित परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करने जा रहे थे। श्री त्रिपाठी जैसे ही भदोखर थाना क्षेत्र के दरियापुर तिराहे पर पहंुचे वहां मौजूद थानाध्यक्ष भदोखर एवं उनकी टीम ने रोककर घटना स्थल पर न जाने की सलाह दी। लेकिन वह नहीं माने और आगे बढ़ गये। इसके बाद जगतपुर चैराहे पर अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में भारी पुलिस फोर्स ने उनके वाहन को घेर लिया।

पुलिस अधिकारियों ने उन्हें गांव में शांति व्यवस्था का हवाला देते हुये वहीं से वापस कर दिया। बाद में पत्रकार वार्ता कर श्री त्रिपाठी ने कहा कि अपटा की घटना अत्यंत दुखद है। उन्होंने इसे शर्मसार करने वाली घटना बताते हुये इसकी कठोर निंदा की। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ने भी इसकी निंदा की है। आर्थिक सहायता की घोषणा की जा चुकी है। पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये जा चुके है कि सभी अभियुक्तों के प्रति रासुका लगायी जाये। दहशत का माहौल समाप्त किया जाये। उन्होंने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को शस्त्र लाइसेंस देने के भी निर्देश जारी कर दिये हैं।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY