नक्सल इलाके में चुनाव के दौरान हाईटेक होगी पुलिस, गूगल की लेगी मदद

0
142

police it cell
चन्दौली :जिले की चकिया विधानसभा का अधिकांश हिस्सा नक्सल प्रभावित व पहाड़ी इलाकों वाला है। ऐसे में चुनाव में फोर्स की तैनाती के लिए गूगल मैप की मदद ली जा रही है। साथ ही मतदान केन्द्रों को भी डिजिटल प्रणाली से जोड़कर हाईटेक करने की कोशिश की जा रही है।
विधानसभा चुनाव में पुलिस व प्रशासन तमाम तरह के डिजिटल व हाईटेक तरीके अपनाकर 2017 के चुनाव को और अधिक हाईटेक बनाए जाने की पहल कर रहा है।

सूत्रो कि माने तो मतदान केंद्रों पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती के लिए इस बार गूगल मैप की मदद ली जाएगी। इसके लिए मतदान केंद्रों को डिजिटल प्रणाली से जोड़ने की जारी कवायद अब अंतिम पायदान पर है। पुलिस चुनाव कार्यालय में इस कार्य के लिए आइटी सेल का गठन भी हो चुका है, आयोग ने मतदान को पारदर्शी व भयमुक्त बनाने और अराजक तत्वों से निपटने के लिए के लिए हर संभव उपाय करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस प्रशासन इसके लिए चुनाव से पूर्व सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम की तैयारी में जुटा हुआ है।

क्षेत्र के नक्सल प्रभावित चकिया, चकरघट्टा, नौगढ़, इलिया व शहाबगंज थाना क्षेत्र के मतदान केंद्रों पर सुरक्षा की चौक-चौबंद व्यवस्था की जा रही है। मतदान के दौरान इन थाना क्षेत्रों में अर्ध सैनिक बल व पीएसी के अतिरिक्त नागरिक पुलिस के जवान तैनात किए जाएंगे। इसके लिए पुलिस प्रशासन विधानसभा की सीमाओं को चिन्हित करने के लिए गूगल मैप की मदद लेगा।
अब तक मिली जानकारी के मुताबिक किस मतदान केंद्र पर कितना अर्धसैनिक बल, पीएसी व नागरिक पुलिस के जवान तैनात किए जाएंगे, संबंधित थाना मुख्यालय से मतदान केंद्र की दूरी कितनी है, किस सड़क से मतदान केंद्र पर पहुंचने में आसानी होगी, सड़क मार्ग से मतदान के बीच पड़ने वाले पुल व पुलिया समेत तिराहे-चौराहे जैसी जानकारियों को अपडेट किया जा रहा है।

रिपोर्ट–दीपनारायण यादव/उमेश दुबे

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here