आंचल पांधी के पति राहुल का होगा लाई डिटेक्टर टेस्ट

0
167


देहरादून : देहरादून में बीते 14 फरवरी को हुई आंचल पांधी की मौत की गुत्थी सुलझ नहीं पा रही है। इसके लिए अब पुलिस जल्द ही आंचल पांधी पति के पति राहुल पांधी का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराएगी। डीजीपी एमए गणपति ने इस मामले की जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी हैं। उन्होंने निर्देश दिया है कि एक मेडिकल बोर्ड गठित कर आंचल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का फिर से परीक्षण कराया जाए और साक्ष्यों पर गौर करते हुए सच्चाई का पता लगाया जाए।

बता दें कि आंचल अपने पति राहुल पांधी के साथ देहरादून के राजपुर थाना क्षेत्र के पैसिफिक हिल्स अपार्टमेंट में रहती थीं। दोनों पति-पत्नी ने यह फ्लैट करीब दो माह पहले ही किराये पर लिया था। इसी फ्लैट में बीती 14 फरवरी को आंचल का शव पंखे से लटकता मिला। राहुल की सूचना पर पहुंची राजपुर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया और पोस्टमार्टम रिपोर्ट को आधार बताते हुए इसे आत्महत्या का मामला बताया।

वहीं, आंचल के माता-पिता व परिचितों ने राहुल पर आंचल की हत्या का आरोप लगाया। जिसके बाद पुलिस ने राहुल व तीन अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था। इसके बाद भी परिजन पुलिस पर जांच में रुचि न लेने का आरोप लगाते हुए अफसरों से मिलते रहे, बुधवार को डीजीपी एमए गणपति ने इस मामले को संज्ञान में लिया और एसपी ग्रामीण श्वेता चौबे को निर्देश दिया कि गंभीरता से जांच कर आंचल की मौत का पता लगाया जाए साथ ही डीजीपी ने राहुल पांधी का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने को भी कहा है। डीजीपी ने कहा कि बिसरा रिपोर्ट को भी जल्द मंगाया जाए और उसे मेडिकल बोर्ड के सामने रखा जाए।

क्या होता है लाई डिटेक्टर टेस्ट-
पुलिस इनवेस्टिगेशन के केस में कई बार सच का पता लगाने के लिए आरोपी का लाई डिटेक्टर टेस्ट किया जाता है। इसके अलावा कुछ देशों में जॉब के लिए (FBI और CIA) हायर करने से पहले लाई डिटेक्टर टेस्ट कराया जाता है। इस टेस्ट का मकसद ये जानना होता है कि व्यक्ति सच बोल रहा है या झूठ। इस प्रक्रिया को पॉलीग्राफी टेस्ट भी कहा जाता हैं।

कब और किसने किया इन्वेंशन-
पॉलीग्राफ मशीन का इन्वेंशन 1921 में जॉन अगस्तस लार्सन ने किया था। जॉन ने यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया से मेडिकल की पढ़ाई की थी और वे कैलिफोर्निया के बर्कले पुलिस स्टेशन में कार्यरत थे।

कैसे काम करती है पॉलीग्राफ (लाई डिटेक्टर) मशीन-
जब किसी व्यक्ति का लाई डिटेक्शन (पॉलीग्राफी) टेस्ट किया जाता है तो उसके साथ 6 सेंसर अटैच किए जाते हैं।

पॉलीग्राफ मशीन में इन 4 बातों को रिकॉर्ड किया जाता है-
1. व्यक्ति के सांस लेनो की गति (ब्रीदिंग रेट)
2. व्यक्ति का पल्स
3. व्यक्ति का ब्लड प्रेशर
4. व्यक्ति के शरीर से निकल रहा पसीना

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here