मंदिर में अस्त्र लेकर घुस रहे पुलिसकर्मी

0
117

दुमका(ब्यूरो)- बासुकीनाथ के मंदिर मे अस्त्र ले जाना मना है लेकिन यह बात इसके लिए कुछ भी नही क्योंकि कानून आम आदमी के लिए है भारतीय संविधान में भी रूल ऑफ लॉ के सिद्धांतों को अपनाया गया है और इस बात का प्रावधान किया गया है कि कानून के नजर में सभी समान है किसी के साथ भी भेदभाव पर आधारित कानून लागू नहीं होगा इसलिए आम जनता हो या कानून के रक्षक सबो पर समान कानून लागू होता है| यहां यह गौर करने वाली बात है कि बाबा बासुकीनाथ मंदिर न्यास समिति के निर्देशानुसार मंदिर के सिंह द्वार पर बड़े बड़े अक्षरों में लिखा है| किसी भी प्रकार की आग्नेयास्त्र को मंदिर परिसर में लेकर घुसना गैरकानूनी है लेकिन कानून को लागू करने वाले एजेंसी ही कानून की खिल्ली उड़ाते हैं या कोई नई तस्वीर नहीं है इस तरह के कई बार हमने WhatsApp और दैनिक अखबारों में खबरें चला चुके हैं| यह तस्वीर तो बाबा मैया के बीच प्रांगण का है लेकिन हमने तो इससे पहले बाबा के गर्भ गृह में मौजूद आग्नेयास्त्र को दिखा चुका हूँ लेकिन आज तक किसी पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि यही तो हमारा एडमिनिस्ट्रेटिव कल्चर है|

रिपोर्ट- धनंजय कुमार सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY