थानेदार की तानाशाही का शिकार बना गरीब इंसान

0
95

हरदोई (ब्यूरो)- जहां एक और केंद्र सरकार व यूपी सरकारे पुलिस को अच्छा बर्ताव व मित्र वर व्यवहार करने का आदेश देती है वहीं दूसरी ओर पुलिस द्वारा नाजायज तरीके से फंसाया गई युवक ने अपनी आपबीती थाने में पहुंचे पत्रकारों से बयां की हरेंद्र कुमार कश्यप पुत्र महेश कुमार निवासी साधिनावा थाना हरियावा का निवासी है जो शिक्षण कार्य कर अपना जीवन यापन करता रहा योग्य अध्यापक के रूप में जाने जाने वाले हरेंद्र कुमार को क्षेत्र में हो रहे।

अन्याय के प्रति आवाज उठाने में भी बड़ा योगदान रहा जिसके चलते क्षेत्र के अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों से बराबर कहासुनी होती रही क्षेत्र में चल रहे गैर कानूनी स्कूल न्यू आदर्श पब्लिक स्कूल पर कार्रवाई करा कर दी जिसके चलते स्कूल संचालक द्वारा हरियावा थाना अध्यक्ष से सांठगांठ कर हरेंद्र कुमार को 21 नवंबर को घर से हरियावा पुलिस द्वारा पकड़ वाला गया जिस पर हरेंद्र कुमार ने विरोध किया विरोध करने पर हरदोई पुलिस अधीक्षक व क्षेत्रीय सीओ को जानकारी फोन द्वारा दी इस बात से नाराज़गी हरियावां थाना अध्यक्ष फूलचंद सरोज ने वा हल्का इंचार्ज के साथ मिलकर षड्यंत्र के तहत स्कूल प्रबंधक से 23 नवंबर की रात 12:00 बजे एप्लीकेशन मंगाकर 420, 467, 468, 471, में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया।

इस बारे में थाना अध्यक्ष फूलचंद सरोज से बात करने पर उन्होंने बताया कि स्कूल प्रबंधक द्वारा शिकायत किए जाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है सवाल यह उठता है कि जब स्कूल प्रबंधक द्वारा 23 नवंबर को एप्लीकेशन दी गई तो 21 नवंबर को हरेंद्र को हरियावा पुलिस द्वारा किस बात के लिए पकड़ा गया कानूनी कार्रवाई के अनुसार अभियुक्त को 24 घंटे के अंदर कोर्ट में भेजा जाना होता है लेकिन 4 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक अभियुक्त का चालान नहीं किया गया।

रिपोर्ट- अजीत सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here