किताबी शिक्षा के साथ साथ व्यवहारिक ज्ञान जरूरी

0
43

बांसडीह/बलिया (ब्यूरो)- विद्यालयों मे किताबी शिक्षा के साथ साथ ब्यवहारिक शिक्षा का महत्व अधिक है और इन छोटे बाल मनो में समाज से जूड़ने का तरीका भी काफी सराहनीय हैं यह बातें बांसडीह विकासखंड के खरौनी शिक्षण संस्थान में आयोजित वाल मेले के शुभारंभ के बाद छात्रों और अभिभावकों को संवोधित करते हुए विधानपरिषद के सदस्य रविशकर सिंह पप्पू ने मेले मे लगी प्रदशर्नी में बच्चों द्वारा बनाए गये पवन चक्की, तोप लोगों के आकर्षण की भीड़ देख काफी सराहना किया।

विद्यालय के छात्र मृत्युंजय पासवान और सैयद अली की जादूगरी देख दर्शकों ने खुब तालियां बजाकर बच्चों का उत्साह वर्धन किया।बच्चों द्वारा बनाए गये इलेक्ट्रॉनिक झांकी, वालकृष्ण,शंकर की झांकी देख लोगों ने छात्रो की प्रशंसा किया।इसके पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत श्वेता पांडेय द्वारा देशभक्ति गीत गाकर सुनाया। कार्यक्रम में आये सभी अतिथियों का स्वागत विद्यालय के संरक्षक आलोक सिंह बब्लू और आभार विद्यालय के प्रधानाचार्य गणेश पांडेय ब्यक्त किया।कार्यक्रम का संचालन सलोनी सिंह ने किया।

रिपोर्ट- प्रदीप कुमार सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here