प्रधान, पूर्व प्रधान व रिटायर्ड शिक्षक समेत पांच आरोपियों को सुनाई गयी सजा

0
49


सुलतानपुर ब्यूरो : प्रधान, पूर्व प्रधान व रिटायर्ड शिक्षक समेत पांच आरोपियों को अपर सत्र न्यायाधीश सप्तम अजय कुमार दीक्षित की अदालत ने सुनाई सजा, प्रधान-रणभद्र उर्फ़ सज्जन सिंह, पूर्व प्रधान-राजबख्श सिंह, रिटायर्ड शिक्षक-विजय बहादुर सिंह, भीम सिंह व हरिकेश सिंह को सुनाई गई 10-10 वर्ष के सश्रम कारावास व सात-सात हजार रूपये अर्थदंड की सजा, 22 अक्टूबर 1991 की घटना बताते हुए इन पांचों आरोपियो व रामबहादुर सिंह के खिलाफ वादी सुरेश बहादुर सिंह ने चंदीपुर-कूरेभार में हुए तात्कालीन मंत्री बलराम यादव के कार्यक्रम से लौटते समय रास्ते में स्वयं व मानदीप,देवप्रसाद सिंह पर तमंचे से फायर कर हुए जानलेवा हमले का आरोप लगाते हुए दर्ज कराया था मुकदमा, विवेचना में पुलिस ने रामबहादुर सिंह को दे दी क्लीनचिट शेष के खिलाफ दाखिल हुई चार्जशीट, इन पांचों आरोपियो के खिलाफ चल रहे विचारण के दौरान सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता रमेशचंद्र यादव ने छः गवाहों को कराया परीक्षित, बचाव पक्ष ने भी एक गवाह को किया था पेश, साक्ष्य के दौरान चोटहिल मानदीप हो गया पक्षद्रोही, चोटहिल देवप्रसाद सिंह आरोपियो की दहशत से साक्ष्य के लिए अदालत में ही नही हुआ पेश, विचारण की प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात आज करीब साढ़े पच्चीस साल बाद अदालत का फैसला आया |

इस घटना के बावत अदालत में बयान न बदलने पर 25 जुलाई 1998 को घटना के गवाह वेदप्रकाश सिंह को गोली मारकर व बुरी तरीक़े से हाथ पैर तोड़कर आरोपीगण शंकर,भीम सिंह,चन्दन सिंह,राजबख्श सिंह व राजेंद्र सिंह ने किया था हत्या का प्रयास, इन पांचों आरोपियो को भी दोषी ठहराते हुए तत्कालीन एफटीसी न्यायाधीश मो.रईस सिद्दीकी ने 5 अक्टूबर 2005 को सुनाई थी सजा, इस मामले में भी दोषी ठहराए गये भीम सिंह व पूर्व प्रधान राजबख्श सिंह का नाम वेदप्रकाश पर हुए हमले के मामले में भी ठहराए गये दोषियों में रहा शामिल, कुड़वार थाना क्षेत्र के नौगवांतीर गाँव का है मामला।

रिपोर्ट – संतोष यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here