दलदल में हुई तब्दील प्रेमनगर की गालियां, व्यपारियों सहित ग्रामीणों में रोष

0
48

खागा/फतेहपुर (ब्यूरो) –  ऐराया विकास खंड क्षेत्र के सबसे चर्चित कस्बा प्रेमनगर में बारिश के बाद सभी गालियां तालाब जैसी नज़र आ रही है। जिससे व्यपारियों एवं ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं के बड़े बड़े दावे याद आ रहे है। सरकार बनते ही प्रथम प्राथमिकता को देखते मुख्यमंत्री योगी ने बड़े-बड़े वादे कर तो लिए थे पर ग्रामीणों को वादे पूरे होते हुए नहीं दिखाई दे रहे हैं। चर्चित कस्बा प्रेमनगर में जल भराव के कारण लोग परेशान हैं। प्रेम नगर की गली नालियां तालाब बनी है। जिस कारण लोग परेशान हैं। प्रेमनगर में नालियों से पानी का निकास नहीं हो रहा है। जिस कारण मक्खी मच्छरों की भरमार है। गांव में बीमारियां फैलने का भी खतरा है। इस संबंध में व्यापारी इशरत हसन, रियाज अहमद, मैनुद्दीन, पवन मोदनवाल, हरि कंचन, आदि ने बताया है कि गत कई सालों से हालत विपरीत है नालियों से पानी का निकास नहीं हो रहा है।

प्रेमनगर की सारी नालियां पूरी तरह जाम है गंदा पानी गलियों में जमा रहता है। लोग घरों से बाहर निकल नहीं पा रहे हैं। घरों की नीव बैठने का भी डर लगा हुआ है। बरसात के दिनों में हालत ज्यादा खराब हो गई है। पानी घरों में घुस जाता है और घरों का कीमती सामान भी खराब हो जाता है। गलियों में गंदा पानी जमा रहने से स्कूली बच्चे स्कूल जाने में भी बड़ी दिक्कते उठा कर पहुचते है। पानी से सावधानी से होकर गुजरना पड़ता है। यहाँ के ग्रामीणों को कीचड़ से भरी गली से निकलते समय कीचड़ में गिरकर चोटिल होना पड़ता है। नाली का गंदा पानी गलियों में महीनों से भरा है। इस समस्या से व्यापारियों के बिजनेस पर भी काफी असर पड़ा है। नर्क जैसे रास्ते के कारण लोग प्रेमनगर व्यापार के लिए भी नहीं आते। बताते चलें कि लोग हैंडपंप से बदबूदार पानी आने लगा है। लोगों के सर पर बीमारी खतरा मंडरा रहा है लोगों को आशंका है कि कहीं महामारी ना फैल जाए। प्रेमनगर वासियों ने प्रशासन से मांग की है कि समस्या का समाधान किया जाए।

रिपोर्ट – शिव ओम तिवारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here