प्रशासन की लापरवाही से तालाबों की दुर्गति

0
28

रुरुगंज/औरैया (ब्यूरो)- एक तरफ प्रशासन तालाबो के अतिक्रमण मुक्त की बात कह रहा है तो दूसरी तरफ प्रशासन की ही लापरवाही से तालाबो की दुर्गति होती जा रही है। ऐसा ही एक तालाब अछल्दा ब्लाक के ग्राम पंचायत साहूपुर के मजरा मिश्रीपुर में मौजूद है। इस ओर प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है।

ग्राम पंचायत साहूपुर के मिश्रीपुर ग्राम में प्रशासन की मिली भगत से तालाब अतिक्रमण की चपेट में है। ग्रामीणों ने बताया कि सरकार के कागजों में तालाब की भूमि की जगह लगभग ढाई बीघा है। जो अब दबंगो के कब्जे के कारण एक बीघा भी नही बची है। सरकारी तालाब में चारो ओर बड़ी-बड़ी बेसरम व बबूल के साथ-साथ बड़ी-बड़ी घास खड़ी है और चारो तरफ अतिक्रमण कर रहे लोगों ने कूड़े के ढेर लगा रखे है। जिसके आसपास जाने तक में ग्रामीण डरते है, ग्राम पंचायत की लापरवाही से तालाब में अभी तक सफाई नही हुई है।

तालाब के बीचो बीच खड़ी घास की अब तक सफाई नही की जा सकी है। इससे यह कम होता जा रहा है। इसमें मोहल्ले का गन्दा पानी जाता है। गाँव में इस तालाब की सबसे अधिक दुर्दशा है। प्रशासन अन्य तालाबो की तरह इस तालाब को भी भूल गया था । तालाब के एक हिस्से में गन्दा पानी भरा है, इसमें पनपने वाले मच्छर व गर्मी की सड़ांध से ग्रामीणों का जीना दुश्वार हो गया है।

इस तालाब की स्थित दिन व दिन बदहाल होती जा रही है। यही कारण है जनपद में अन्य तालाबों के साथ-साथ इस तालाब की हालत भी खस्ता है, मिश्रीपुर के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से इस तालाब के सुन्दरीकरण की मांग की है। ग्रामीणों का कहना कि ढाई बीघा तालाब कब्जे की चपेट में आ गया है जिस पर पेड़ पौधे व छप्पर आदि भी रखे जा चुके है। एसडीएम बिधूना बिजय प्रताप यादव ने बताया कि सरकारी तालाबों को हर हालत में अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा, इसके लिये अभियान चलाया गया है इस तालाब की भी पैमाइश के बाद सौन्दर्यीकरण होगा।

रिपोर्ट- आशीष सविता

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY