प्रतापगढ़ बना अपराधगढ़, एक और व्यापारी को मारी गयी गोली

प्रतीकात्मक फोटो

प्रतापगढ़ (ब्यूरो) जनपद प्रतापगढ़ के व्यापारी को इलाहाबाद जनपद के मऊआइमा थाना क्षेत्र में मारी गई गोली व्यापारी की हालत नाजुक इलाहाबाद प्रतापगढ़ जनपद मिलाकर सुर्ख़ियों में आया इलाहाबाद मंडल एक बार फिर 19 जून अपराध के मामले में इलाहाबाद मंडल में नंबर 1 पर है | जहां रानीगंज थाना क्षेत्र में युवती की हत्या कर लाश शारदा सहायक नहर में फेंकी गई तो दूसरी तरफ कोतवाली नगर के शहर के पास महिला का हैंड बैग में रखा 240000 लाख नगदी बदमाशों ने दिनदहाड़े पार कर दिया, वही कटरा गुलाब सिंह के प्रतिष्ठित गल्ला व्यवसाई  जग नारायण सेठ को गोली मार दी गयी, जग नारायण की हालत नाजुक बताई जा रही है |

योगीराज में प्रतापगढ़ जनपद एवं इलाहाबाद की  कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है, व्यापारी, आम जनमानस, महिला, पुरुष अपने को असुरक्षित महसूस कर रही हैं | लोगों के साथ घटनाएं होती हैं, लोग अपनी फरियाद लेकर कोतवाली थाने का चक्कर लगाते हैं, बदले में पुलिस मामले को झूठा साबित कर देती है सबसे बड़ी बात तो यह है कि लोगों की गाढ़ी कमाई के पैसे के साथ-साथ अपनी जान भी गंवानी पड़ी | जिस परिवार में यह हादसा होता है उस परिवार की स्थिति बद से बदतर हो जाती है यदि बदमाशों द्वारा दिनदहाड़े गोली मारे जाने के बाद परिवार अस्पताल में इलाज कराते-कराते स्वयं दयनीय हालत में पहुँच जाता है |

कटरा गुलाब सिंह बाजार निवासी जगनारायण सेठ थोक भाव में अनाज काम करते हैं और ईनकी तुलना बड़े व्यापारियों में होती है | जनपद प्रतापगढ़ में हत्या करना, लूट करना, गोली मारना यह आम बात हो गई है | इसका कारण यह है कि अपराधियों पर प्रतापगढ़ पुलिस का अंकुश नहीं रह गया है ना ही जनपद प्रतापगढ़ में कानून का राज चल रहा है अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के पुलिस प्रमुख ने एक बयान में कहा था घटनाएं तो होगी इस को कोई नहीं रोक सकता है जब प्रदेश का मुखिया ही ऐसा बयान देगा कि घटनाएं घटेगी इसको कोई नहीं रोक सकता है तो इसका अंदाजा प्रदेश की जनता को स्वयं लगा लेना चाहिए कि उत्तर प्रदेश में कानून का राज चलेगा या अपराधियों का राज चलेगा |

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here