प्रत्येक प्राणी को सामान रूप से देखना चाहिए: अनेकदास महराज

0
46

फतेहपुर चौरासी/उन्नाव(ब्यूरो)- आत्मा जितनी बड़ी बच्चे के अन्दर होती है उतनी ही बड़ी व्रद्ध के अन्दर सिर्फ शरीर ही छोटा बड़ा होता है | इसलिए भेद भाव भुलाकर समाज में प्रत्येक प्राणी को सामान रूप से देखना चाहिए | हम समाज सेवा में जुट जाए व इश्वर का चिंतन करने लगे तो जीवन धन्य हो जाएगा |

उक्त उदगार फतेहपुर चौरासी क्षेत्र के मक्का खेड़ा गांव मे आयोजित तीन दिवसीय सत्संग के समापन पर करनपुर धाम पटियाली जनपद कासगंज से आये अनेकदास महराज ने व्यक्त किये | उन्होंने कहा समाज का हर व्यक्ति अपनी माँ बहन जैसा ही दूसरों की माँ बहन को तथा अपने पुत्र, भाई, बंधू के समान ही दूसरो के पुत्र, भाई, बन्धु को समझने लगे | तो सारा समाज स्वर्ग बन जाए | प्रत्येक शरीर में एक ईश्वरीय शक्ति होती है यदि वह इस शरीर से निकल जाए तो शरीर स्थिर हो जाता है |

समाज आज के दौर में धन के पीछे भागता नजर आ रहा है किन्तु सबसे बड़ा धनवान वही है जिसके घर में राम का नाम लिया जाता है | इस कलि काल में भी प्रभु के दर्शन प्राप्त हो सकते है किन्तु दर्शन प्राप्त करने के लिए गुरु रुपया माध्यम की आवश्यकता पड़ती है, ठीक वैसे ही जैसे छत पे चढ़ने के लिए सीढ़ी व कुंए में उतरने के लिए रस्सी की |

कार्यक्रम के दौरान उपस्थित हजारो भक्तो को रजयपाल शास्त्री के नेतृत्व में दिलीप, मोहित ने भगवदभजन गाकर भक्तों को भक्ति रस में झूमने को मजबूर कर दिया | कार्यक्रम का आयोजन पप्पू यादव ने किया| कार्यक्रम को सुचारू रूप से संपन्न कराने में पप्पू यादव, राम नरेश यादव पूर्व प्रधान, जीतेंद्र यादव, राम नारायण प्रधान, नवाब सिंह आदि लोगो ने पूर्ण सहयोग किया |

रिपोर्ट- जितेंद्र यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY