प्रयाग काे मिली नई साैगात, 90 किमी लंबा मेट्रो रूट तय

0
308
प्रतीकात्मक

इलाहाबाद(ब्यूरो)– शहर में मेट्रो दौड़ाने के लिए पहली सीढ़ी पार हो चुकी है। राइट्स कंपनी ने शहर में मेट्रो के लिए ट्रैफिक लोड का सर्वे पूरा कर लिया है। अब 17 मार्च को कंपनी के प्रतिनिधि सर्वे की पूरी रिपोर्ट का प्रजेंटेशन मंडलायुक्त के सामने करेंगे। इलाहाबाद में मेट्रो के संचालन के लिए सर्वे और डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने का काम राइट्स कंपनी को सौंपा गया है।

शहर में चार रूट पर कुल 90 किलोमीटर में मेट्रो का ट्रैक बिछाया जाना है। डीपीआर तैयार करने से पहले मंडलायुक्त ने शहर में ट्रैफिक लोड के सर्वे के निर्देश दिए थे। ताकि यह तय हो सके कि किन स्थानों पर मेट्रो की आवश्यकता अधिक है और कहां-कहां पर यात्रियों का आवागमन ज्यादा रहता है। जिससे वहां स्टेशन बनाए जा सकें। करीब दो माह पूर्व राइट्स ने इस सर्वे का काम शुरू किया था जो अब पूरा हो चुका है। सर्वे पूरा होने के बाद अब कंपनी इसका डिजिटल डाक्यूमेंटेशन कर रही है, ताकि उसे मंडलायुक्त और कमेटी के सामने दिखाया जा सके। इलाहाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष देवेंद्र कुमार पांडेय ने बताया कि राइट्स ने सर्वे का काम पूरा कर लिया है। अब 17 मार्च को इसका प्रजेंटेशन होगा।

बैठक टली इलाहाबाद : मेट्रो के संचालन के लिए मंडलायुक्त राजन शुक्ला की अध्यक्षता में बनी कमेटी की शुक्रवार को बैठक होनी थी। जिसके लिए कुछ अधिकारी मंडलायुक्त कार्यालय पहुंच भी गए थे, लेकिन किन्हीं कारणवश बाद में यह बैठक स्थगित कर दी गई।

रिपोर्ट-डॉ. आर. आर. पाण्डेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here