अग्रसेन पीजी कॉलेज में स्वछता अभियान वर्कशॉप का आयोजन किया गया

0
25


वाराणसी (ब्यूरो) – वाराणसी में इन दिनों स्वछता अभियान जोरों पर है और ये स्वछता ना केवल आस – पास की गंदगी के लिए बल्कि आज के दौर में बढ़ रहे इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट के लिए भी बहुत ज़रूरी हो चुकी है। आज की जेनरेशन को इलेक्ट्रॉनिक स्वछता का पाठ पढ़ाने के लिए बनारस के अग्रसेन पीजी कॉलेज में वर्कशॉप का आयोजन किया गया।

वाराणसी के अग्रसेन पीजी कॉलेज में कंप्यूटर युग में फ़ैल रहे इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट को किस तरह काम किया जाए इसपर हाल ही में वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस दौरान डिजिटल स्वछता पर हुई चर्चा में भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय के उच्च अधिकारियों ने भी शिरकत की। वर्कशाप में हिस्सा ले रही छात्राओं का कहना है कि आज के दौर में ये बहुत ज़रूरी है कि हम जिस युग में हम जी रहे हैं उसके अवगुण जानना बहुत जरूरी है और तेकनीकी गार्बेज से देश को और पूरे विश्व को बचाने का प्रयास सबको मिल कर करना होगा। लगभग 500 छात्राओं ने इस सेमिनार में हिस्सा ले कर ये जानकारी हासिल की है कि तकनीकी युग में इलेक्ट्रॉनिक गार्बेज क्या होता है और किस तरह से इलेक्ट्रॉनिक गार्बेज से छुटकारा पाया जा सकता है।

अग्रसेन पीजी कॉलेज के पॉलिटिकल साइंस के प्रोफेसर आकाश का कहना है कि पूरी दुनिया जिन चीज़ों को कूड़ा समझ कर नकार देती है वो सब कुछ हम भारतीय खरीद लेते हैं। भारत को विकसित देशों का डंपिंग ग्राउंड बना दिया गया है और असर अब देखने को मिल रहा है। सेमिनार के दौरान इस बात को आने वाली पीढ़ी के मन में बैठाने कि कोशिश की गई है कि आज की जरूरत है कि भारत किसी भी विकसित देश का कूड़ाघर बन कर न रह जाए।

रिपोर्ट – घनश्याम गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here