प्रेमी युगल परिणय सुत्र मे बंधे

0
99


विभूतिपुर/समस्तीपुर (ब्यूरो)- थाना क्षेत्र के चकहबीब गांव में अपने प्रेमी से थाना परिसर में रचाई शादी विभूतिनाथ मंदिर परिसर के प्रांगण में थाना अध्यक्ष संजीत कुमार के पहल पर प्रेमी को मिला प्रेमिका का हाथ प्रेमी रेलवे चतुर्थवर्गीय कर्मचारी के रूप में अपना योगदान आंध्र प्रदेश के सिकन्दरावाद मे रेलवे विभाग में दे रहे है।

बताया जाता है कि प्रेमी प्रेमिका के मामा भांजी का रिश्ता है जो 2 वर्ष पहले उजियारपुर प्रखंड के नाजिरपुर गांव निवासी नेपाली राम की पुत्री को पढ़ाने के लिए सिकंदराबाद ले गया था। वही वर्ष 2015 के नवंबर माह में अपनी शादी प्रेमी पूजा के साथ रचा लिया और उस दिन से पति पत्नी के रुप में अपना जीवन बसर कर रहा था। इधर राम बालक राम ने परिवार वालों के काफी दबाव बढ़ने के कारण पूजा को मायके में रख कर अपनी दूसरी शादीरचाने की तैयारी सुरू किया। यहां तक की लड़की पक्ष के लोग तिलक चढ़ाने भी राम बालक राम के घर पहुँच चुके थे।

इस बात को जानकरी मिलते ही पूजा ने स्थनीय थाना पहुँच अपनी सारी जानकारी थाना अध्यक्ष संजीत कुमार को सुनाया। त्वरित कार्यवाही करते हुए थानाध्यक्ष ने रामबालक राम को अपने हिरासत में लेते हुए पूछताछ करना शुरू कर दिया। पूजा के द्वारा बताये बात स्वीकारा किया उसके बाद थाना अध्यक्ष संजीत कुमार के पहल पर फिर से पूजा और रामबालक की विभूतिनाथ मंदिर परिसर में शादी रचाई गई। लड़की पक्ष के लोग और लड़का पक्ष के लोगों के समक्ष यह दोनों प्रेमी युगल परिणय सूत्र में बंधे और अपनी रीति रिवाज के साथ परिवार वालों ने बहू बनाकर पूजा को अपने घर ले गए।

रिपोर्ट- रंजीत कुमार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY