प्रेमिका की निशान देही पर गुमशुदा का शव बरामद

0
138

रायबरेली (ब्यूरो)- प्रेमिका की निशान देही पर एक महीने पूर्व गुमशुदा का शव बरामद किया गया है। कोतवाली क्षेत्र जगतपुर के भनुवामऊ मजरे टिकठा मुसल्लेपुर निवासी राजेंद्र पुत्र रघुराज वर्मा 2 मई को अपनी मौसेरी सास के यहाँ पूरे शुक्लन मजरे चिचौली गया था तभी से वह गायब था। परिजनो ने बहुत खोज बीन की पर कहीं पता न चलने पर पिता ने थाने मे गुमशुदगी दर्ज कराई। मोबाइल लोकेशन को आधार मानकर पुलिस जांच कर रही थी। तभी उसे एक नम्बर छाया पुत्री शत्रोहन उम्र 16 वर्ष निवासी हेवतहा नेवढ़िया का मिला।

शुक्रवार को पुलिस ने छाया को गिरफ्त में लेकर पूछ-तांछ की तो उसने पुलिस को सारी घटना की जानकारी दी। छाया ने पुलिस को बताया कि 3 मई की शाम को गाँव निवासी उसका प्रेमी मोनू उर्फ आलोक पुत्र सुरेश कुमार निवासी हेवतहा ने उससे बताया कि गाँव किनारे इसौर नाला के पास हम तीन लोग मोनू उर्फ आलोक पुत्र सुरेश कुमार निवासी हेवतहा, कल्लू पुत्र रामेश्वर निवासी हेवतहा एवं राजा पुत्र अज्ञात निवासी बेनी प्रसाद का पुरवा थाना भदोखर ने एक युवक को मारकर शव दफन कर दिया है। तुम उस जगह मत जाना।

पुलिस ने छाया की निशान देही पर जब उस जगह की खुदाई कराई तो जमीन से 4 फिट नीचे गड्ढे में एक लाश बरामद की। जिसकी कुल्हाड़ी से गला एवं दोनों हाथ काट दिये गये थे तथा गड्ढे के अन्दर से कुल्हाड़ी बरामद हुई। शव कि शिनाख्त पिता रघुराज ने की। मृतक राजेंद्र एलआईसी एजेंट था। उसकी शादी 13 वर्ष पूर्व पूरे झम्मन ममुनी थाना सलोन निवासी बाबूलाल की पुत्री तीरथ पती से हुई थी। मृतक के दो बच्चे राज 12 वर्ष एवं राजरानी 9 वर्ष की है।

प्रभारी निरीक्षक रवीन्द्र मिश्रा ने बताया कि सर्विलांश द्वारा लोकेशन मिलने पर छाया की निशान देही पर शव को बाहर निकाल कर पीएम के लिए भेज दिया गया। शीघ्र ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है।

रिपोर्ट- राजेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here