अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग की तैयारियों जोरों पर वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का अयोध्या आगमन

0
32

 


अमेठी (ब्यूरो)- अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की 25 नवंबर को प्रस्तावित धर्मसभा और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के आर्शीवाद उत्सव को लेकर हलचल तेज हो गई है। विहिप की तरफ से दावा किया जा रहा है कि एक लाख से अधिक की भीड़ जुटने और कानून-व्यवस्था के मद्देनजर अयोध्या में भारी तादाद में फोर्स की तैनाती की गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, फैजाबाद व नजदीकी जिलों की पुलिस के अलावा 48 कंपनी पीएसी तैनात किए जाने से अयोध्या छावनी में तब्दील हो गई है। इसी कड़ी में चप्पे-चप्पे पर ब्लैक कमांडो तैनात किया गया है। शहर की निगरानी ड्रोन कैमरों के जरिए की जा रही है।

डीजीपी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से अयोध्या को आठ जोन व 16 सेक्टर में बांटा गया है। हर जोन व सेक्टर में पुलिस व प्रशासनिक अफसरों की तैनाती की जा रही है। अयोध्या में पीएसी बल की संख्या बढ़ाकर 48 कंपनी कर दी गई है। पहले 20 कंपनी लगाई गई थी।

इसके अलावा एसपी स्तर के पांच, अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के 15 व 19 सीओ की अतिरिक्त तैनाती की गई है। इसके साथ ही राज्य के खुफिया विभाग के अफसर व कई अन्य अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। आला अफसरों ने जिला रेंज के विभिन्न जिलों से काफी पुलिस बल अयोध्या में तैनात कर दिया है।

उधर, जिला अपर जिला मजिस्ट्रेट, कानून व्यवस्था पीडी गुप्ता द्वारा जारी आदेश जारी में कहा गया है कि अयोध्या क्षेत्र में परिक्रमा और कार्तिक पूर्णिमा मेला के कारण बढ़ी संवेदनशीलता, देश में आतंकवादी गतिविधियों और राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद अधिग्रहित परिसर में शांति व्यवस्था व सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अयोध्या में 17 जनवरी 2019 तक धारा 144 बढ़ा दी गई है। जिले में निषेधाज्ञा लागू हो गई है।

रिपोर्ट- विश्वनाथ उर्फ विक्रम भदोरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here