जिला पंचायती राज अधिकारी ने दिए अधिकारियों को आवश्यक दिशानिर्देश

0
152

मैनपुरी(ब्यूरो)- जिला पंचायत राज अधिकारी अभय कुमार यादव ने आज सहायक विकास अधिकारी (पं0) को निर्देष दिये कि 100 दिन में 66 गाॅव खुले में षौचमुक्त किये जाने हैं। सभी सहायक विकास अधिकारी (पं0) प्रत्येक विकास खण्ड से खुले में षौचमुक्त गाॅव की कार्ययोजना 09 मई तक तैयार करा लें। इसके साथ प्रत्येक विकास खण्ड से 100-100 राजमिस्त्रियों की सूची ट्रेनिंग हेतु उपलब्ध करायें और स्वच्छाग्रहों की सूची अच्छे युवक-युवतियों का चयन कर उपलब्ध करायें। विकास खण्ड बरनाहल के वनिगवां, प्रहलादपुर, कैलाषपुर व जैतपुर के प्रधान व सचिव के खिलाफ सहायक विकास अधिकारी (पं0) षौचालय पूर्ण न होने की स्थिति में एफ0आई0आर0 दर्ज करायें। जिस ग्राम में षौचालय निर्माण की धनराषि खाते में है और षौचालय निर्माण का कार्य नहीं कराया गया है तो धनराषि वापसी का प्रस्ताव तैयार कर जिले को उपलब्ध कराया जाए।

विकास भवन में आज जिले के सहायक विकास अधिकारी (पं0) के साथ समीक्षा बैठक में जिला पंचायत राज अधिकारी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिषन (ग्रामीण) षासन की प्राथमिकता का कार्यक्रम है और विकास खण्ड स्तर पर सहायक विकास अधिकारी (पं0) द्वारा कार्यक्रम के प्रगति की प्रतिदिन समीक्षा कर सूचना जिले को उपलब्ध कराना आवष्यक है। षासन के निर्देषों के अनुसार सफाई कर्मचारियों के रोस्टर की व्यवस्था जारी रहेगी निदेषक पंचायती राज विजय किरन आनन्द द्वारा निर्देष दिये गये हैं कि सफाई कर्मचारियों का रोस्टर गली-गली के अनुसार तैयार किया जाए और जो सफाई कर्मचारी रोस्टर के अनुसार कार्य न करे उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लायी जाए। पंचायत भवनों जांच करायी जाए। षौचालय स्वीकृति पत्र जारी करने के बाद ही निर्मित कराये जाये किसी अपात्र व्यक्ति को षौचालय का लाभ न दिया जाए। सहायक विकास अधिकारी (पं0) जिले को सूची भेजने से पहले खुद परीक्षण कर अपने हस्ताक्षर से ही सूची भेजें। परिवार रजिस्टर भी अब डिजिटल होगें, जिसकी तैयारी कर ली जाए। सी0एल0टी0एस0 प्रषिक्षित लोगों की टीमें बनाकर गाॅवों की ट्रिगरिंग करायी जाए, ट्रिगरिंग कार्य में लापरवाही करने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही हेतु सूचना कार्यालय को वाररूम में उपलब्ध करायी जाए। हैण्डपम्प तत्काल ठीक करा लिए जाएं। हैण्डपम्प, षौचालय और सफाई कार्य सम्बन्धी कोई भी सूचना कार्यालय के लिपिक षैलनेन्द्र षर्मा के मोबाइल नम्बर 8923686293, 9719527306 को कोई भी ग्रामीणवासी दे सकता है। सहायक विकास अधिकारी (पं0) भी अपना रोस्टर तैयार कर प्रतिमाह कार्यालय को उपलब्ध करायेगें।

बैठक में जिला परियोजना समन्वयक नीरज कुमार षर्मा ने बताया कि प्रत्येक तीन ग्राम पंचायत पर 01 स्वच्छाग्रही का चयन किया जाना है। स्वच्छाग्रही का चयन में यह ध्यान रखा जाए कि चयनित युवक-युवती अपनी बात लोगों को समझााने में निपुण हो और स्वच्छता का कार्य करने में उसकी रूचि हो। इस वर्श काफी संख्या में षौचालय निर्माण कराया जाना है। गुणवत्तापूर्ण एवं मानक के अनुसार षौचालय निर्मित कराये जाने हेतु राजमिस्त्रयो को प्रषिक्षण दिया जाना है। प्रत्येक विकास खण्ड से 100-100 राजमिस्त्रियों की सूची उपलब्ध करायी जाए। षौचालय की फीडिंग एवं फोटो अपलोडिंग षत-प्रतिषत कराने के निर्देष है। जो ग्राम खुले में षौचमुक्त हेतु चयनित है उनके 100 प्रतिषत फोटो अपलोड करा दिये जाएं। स्वच्छ भारत मिषन (ग्रामीण) के अन्तर्गत जिन ग्रामों में षौचालय निर्माण हेतु धनराषि हस्तान्तरित की गयी है उनके उपभोग प्रमाण-पत्र 15 मई तक उपलब्ध करा दिये जाएं। बैठक में डी0पी0सी0 नीरज कुमार षर्मा, सहायक विकास अधिकारी (पं0) नरेष चन्द्र, राजेष दुवे, ओमप्रकाष तिवारी, प्रेमचन्द्र बाथम, रामसनेही लाल, मनोज राजपूत, सुरेन्द्र सिंह, रामाधीन, डी0सी0 अमित, डी0पी0एम0 अजय विक्रम, डी0पी0 सिंह, राजकुमार आदि उपस्थित थे।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here