सरकारी सम्पत्ति की सुरक्षा की जाये – जिलाधिकारी

0
48
credit-patrika

 

मैनपुरी (ब्यूरो)- लेखपाल अपने-अपने क्षेत्र में प्राथमिकता पर 04 कार्य करें पहला अवि-वादित फौती तत्काल दर्ज हो,  दूसरा सरकारी सम्पत्ति की सुरक्षा की जाये, तीसरा पट्टों की पैमाईस कर दखल दिया जाये चैथा चकरोड, खाद के गढ्ढों, तालाबों से अवैध अतिक्रमण हटाये जाये। यदि यह कार्य हो गये तो शिकायतें कम आयेंगीं और आमजन राहत महसूस करेगा।

क्षेत्र में ग्राम स्तरीय अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा कोई काम नहीं किया जा रहा है यही वजह है कि तहसील, थाना समाधान दिवस, जनता दर्शन में 80 प्रतिशत से अधिक शिकायतें भूमि पर अवैध कब्जों की मिल रही है, गांव कें भ्रमण के दौरान अधिकांश तालाबों, सड़क किनारें खाद के गढ़्ढों आदि पर अवैध अतिक्रमण मिला है।

धारा-24 में भी कई फरियादियो ने पैमाईस हेतु आवेदन किया है जिसे लम्बे समय से दबाकर रखा गया हे यह स्थिति किसी भी दशा में माफी के योग्य नहीं है। उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवन्त राव ने तहसील घिरोर में लेखपालवार समीक्षा के दौरान दिये। उन्होने कठोर रूख अखत्यार करते हुए कहा कि यदि किसी के द्वारा गरीब की न सुनी और दबंग, गुण्डों के दबाव में आकर गलत कार्य किया तो उसे खामियाजा भुगतना प़ड़ेगा यदि अगले तहसील दिवस में गढ्ढो, चकरोडो, तालाबों पर अवैध कब्जे की शिकायतें मिली तो लेखपाल के साथ-साथ राजस्व निरीक्षक, नायब तहसीलदार, तहसीलदार, उप जिलाधिकारी भी दण्डित होंगे।

उन्होने सचेत करते हुए कहा कि जिस किसी के पास धारा-24 के आवेदन लम्बित है तत्काल कार्यवाही करें । उन्होने तहसीलदार से लेखपालवार लम्बित आवेदन की सूचीं उपलब्ध कराये जाने केा कहा। श्री राव ने लेखपालों, राजस्व निरीक्षक की दैनिक डायरी का अवलोकन करने पर पाया कि लेखपालों द्वारा दैनिक डायरी ठीक प्रकार नहीं भरी जा रही है, दैनिक डायरी में खाना-पूर्ति हो रही है।

उन्होने सचेत करते हुए कहा कि दैनिक डायरी में गांव के व्यक्तियों के हस्ताक्षर, मोबाइल नम्बर,कार्य का विवरण अवश्य दर्ज करायें उन्होने कहा कि लेखपाल अपना मूल कार्य नही कर रहे हैं, लेखपालों द्वारा पड़ताल नहीं की जा रही है, समय से फौती भी दर्ज नही हो रही है। उन्होने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि सरकारी तंत्र जितना वेतन पा रहा है उसका आधा भी काम नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि सभी लोग सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन करें और जनता की शिकायतों को वरीयता के साथ निपटायें।

समीक्षा के दौरान मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, उप जिलाधिकारी घिरो देवेन्द्र कुमार, तहसीलदार घिरोर विनोद जोशी आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY