ठेकेदारों के विरुद्ध धरना और प्रदर्शन जारी

0
106


मुगलसराय/चन्दौली (ब्यूरो) भारतीय रेल दलित मजदूर एसोसिएशन के तत्वावधान में सोमवार को भी मुगलसराय यार्ड में रेलवे ठेकेदारों के द्वारा ठेका मजदूरों को भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम मजदूरी 359 रूपये न देने के विरोध में धरना प्रदर्शन किया गया ।

एसोसिएशन के राष्ट्रीय महामंत्री राजेन्द्र राम ने कहा कि श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा घोषित न्यूनतम मजदूरी दिल्ली , मुम्बई , कोलकता , चेन्नई और लखनऊ जैसे बड़े रेलवे स्टेशनों पर 536/- रूपये , वाराणसी , पटना और भोपाल जैसे बड़े रेलवे स्टेशन के परिसर में 448/- रूपये और मुगलसराय एवं ग्रामीण क्षेत्र के छोटे स्टेशनों और रेल लाइनों पर काम करने वाले ठेकेदार मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी 359/- रूपये प्रतिदिन प्रति ठेका मजदूर निश्चित है लेकिन ठेकेदार और उनके मुन्शी केवल 150 रूपये से लेकर 200 /- रूपये प्रतिदिन के हिसाब से मजदूरी दे रहे हैं । उन्होंने ने आगे कहा कि यह मौलिक अधिकारों, मानवाधिकारों और देश के श्रम कानूनों का उल्लंघन है और रेल के अधिकारी भी ठेकेदारों से मिल कर मजदूरी लूट के खा रहे हैं ।

गौरतलब है कि इस संबंध में एसोसिएशन का राष्ट्रव्यापी जागरूकता अभियान 15 जून से जारी है । इसी के अन्तर्गत यह धरना प्रदर्शन किया । मजदूरों ने कहा कि यदि रेल प्रशासन और ठेकेदार बैंक के माध्यम से न्यूनतम मजदूरी देते तो लाखों ठेका मजदूरों को शोषण और उत्पीड़न बन्द हो जाता और मजदूरों को न्याय मिल जाती । इस धरना और प्रदर्शन में रेलवे ठेका मजदूर यूनियन के संस्थापक बाबूलाल राजभर , राम केश , विन्ध्याचल रावत , राज कुमार , राम लखन , चन्दू ,भानू पटेल और राजेश कुमार सहित दर्जनों मजदूर उपस्थित थे ।

रिपोर्ट-उमेश दुबे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here