श्रीनगर में कश्मीरी पंडितों की कालोनी का विरोध, लहराए गए पाकिस्तानी और आईएसआईएस के झंडे

0
532

SRINAGAR, INDIA - JUNE 27: Kashmiri protesters displaying the flags of ISIS and Pakistan during a protest against alleged desecration of Jamia Masjid by police personnel yesterday after Friday prayers, on June 27, 2015 in Srinagar, India. Clashes broke out in several parts of downtown Srinagar on Saturday against the alleged desecration of Jamia Masjid by government forces yesterday. Reacting very sharply against police action, Auqaf Jamia Masjid, which functions under Mirwaiz, called for a shutdown in Srinagar followed by Geelani, Malik and Shah. (Photo by Waseem Andrabi/Hindustan Times via Getty Images)

श्रीनगर- कश्मीरी पंडितों और सैनिकों के लिए बनाई जा रही कालोनियों के विरोध में अलगाववादी नेताओं ने श्रीनगर में जमकर प्रदर्शन किया | विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस और अलगावादी नेताओं के बीच झड़प भी हुई | पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंशू गैस के गोले और लाठी चार्ज भी करना पड़ा |

बीजेपी-पीडीपी सरकार ने सैनिकों और कश्मीरी पंडितों के लिए अलग कालोनी बनाने का किया एलान –
बता दें कि हाल ही में सूबे की बीजेपी और पीडीपी की सरकार ने एलान किया है कि वे प्रदेश में कश्मीरी पंडितों के लिए अलग कालोनी का निर्माण करेंगे साथ ही इसी कालोनी में सेना के सैनिकों के लिए कालोनी का निर्माण किया जाएगा |

गौरतलब है कि विधानसभा और लोकसभा चुनावों के दौरान मोदी सरकार ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था कि प्रदेश में यदि बीजेपी सत्ता में आती है तो वे कश्मीरी पंडितों का घर वापसी अवश्य कराएँगे और घाटी में कश्मीरी पंडितों को पुनः बसाया जाएगा |

26 सालों से देश में ही गैरमुल्क के लोगों की तरह से जीवन जीने पर थे मजबूर-
बता दें कि आज से तक़रीबन 26 साल पहले कश्मीर घाटी कश्मीरी पंडितों के लिए काल बन गयी थी | आये दिन चरमपंथी और कथित आतंकी कश्मीरी पंडितों को मारने में जुट गए थे जिसके बाद कश्मीरी पंडितों ने अपने घर बार को छोड़कर भारत के अन्य हिस्सों में शरण ले ली थी |

बहुत सी सरकारें आई और गयी लेकिन अभी तक किसी भी सरकार ने इस मुद्दे पर कोई भी सार्थक कदम नहीं उठाया था लेकिन 2014 में केंद्र की बीजेपी सरकार ने अपने चुनावी मुद्दों में इस विषय को बेहद गंभीरता से उठाया था और जनता से यह वादा किया था कि कश्मीरी पंडितों को उनके घरों में वापसी जरूर कराई जायेगी | अब मोदी सरकार और पीडीपी सरकार अपना वादा पूरा करने जा रही है |

क्या कह रहे है अलगाववादी संगठन –
बता दें कि इस मुद्दे पर लगभग सभी अलगाववादी संगठन अब एक मंच पर आ गए है | सभी अलगाववादी संगठनों ने एक साथ यह कहा है कि हम कश्मीरी पंडितों का कश्मीर वापसी का स्वागत करते है लेकिन इस बात का विरोध करते है कि उनके लिए अलग से कालोनी बसाई जाए |

अलगाववादी संगठनों का कहना है कि वे प्रमुखता से घाटी में सैनिकों के लिए बनायी जाने वाली अलग से कालोनियों का विरोध कर रहे है | बता दें कि इस मुद्दे का आज विरोध श्रीनगर में किया जा रहा था जिसमें अलगाववादी संगठनों के नेताओं के समर्थकों ने पुलिस को आतंकी संगठन ISIS के झंडे भी दिखाए है साथ ही पुलिस पर पथराव भी किया है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY