कुर्सी को लेकर खड्डा तहसील में जमकर हुआ हंगामा


कुशीनगर (ब्यूरो) प्रशासन ने लोगों के बैठने के लिए नई कुर्सी व मेज मंगवाई थी। लेकिन कोटेशन व क्वालिटी की गड़बड़ी के चलते बुधवार को सभी समान वापस भेजी जा रही थी इससे नाराज अधिवक्ताओं ने तहसीलदार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए विरोध किया।

खडडा तहसील में जनता व कर्मचारियों ,अधिवक्ताओं के सुविधा के लिए लगभग पचास हजार रुपये का प्लास्टिक की कुर्सी मेज सहित कुछ आवश्यक सामान की आपूर्ति कुछ दिन पहले हुई थी।तहसीलदार खडडा ने इस बावत बने फाइल व कोटेशन पर टिप्पणी लिख दिया था कि इसमें कम्पनी व कुछ अन्य आवश्यक जानकारी नहीं है। साथ ही तहसीलदार ने यह भी जोड दिया था कि कागज व फाइलो को सुरक्षित रखने के लिए आलमारी क्रय किया जाय। जब सामान की आपूर्ति हो गयी और भुगतान की बारी आइ तो तहसीलदार ने आपत्ति दर्ज करते हुए भुगतान करने से हाथ खीच लिए ।

मामला एसडीएम तक पहुँचा और तमाम उठापटक के बाद बुधवार को सभी सामान मालवाहक पर लोड कर वापस भेजने की जानकारी अधिवक्ताओं को मिली तो आक्रोशित होकर तहसीलदार पर कमीशन के लिए कुर्सी वापस करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगे तथा तहसीलदार के चेंबर में पहुँच कर भी वार्ता किए लेकिन सभी सामान वापस चले गये।तहसील बार एसोसिएशन के महामंत्री कुमोद शर्मा, भानू पाण्डेय,अनूप मिश्रा, अवधेश यादव,दयानन्द मणि,अनिल सिंह, अमियमय मालवीय, सहित तमाम अधिवक्ता शामिल रहे ।एसडीएम जयचन्द पाण्डेय ने समझाबुझाकर लोगों को शान्त कराया ।

तहसीलदार रामकेवल तिवारी का कहना है कि जिस सामान की आपूर्ति की गयी है उसके बावत मुझे कोई जानकारी नहीं है मेरे पास फाइल आया ही नहीं । न मैने मगांया है न मै वापस कर रहा हूँ ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here