रजनीकांत के घर के पास विरोध प्रदर्शन की आशंका, बढाई गयी सुरक्षा

0
48

नई दिल्ली- कहते है कि राजनीति में यदि भगवान् भी आ जाए तो शायद उनके विरोधी भी मैदान में उतर आयेंगे और इतना ही नहीं शायद उनकी खिलाफत में भी आरोपों और प्रत्यारोपों का खेल शुरू हो सकता है | आपको बता देते है कि पिछले कुछ दिनों से साऊथ में भगवान् की तरह से पूजे जाने वाले अभिनेता रजनीकांत की राजनीति में आने की अटकलें तेज हो गई है हालाँकि रजनीकांत की तरफ से इस मामले में कोई आधिकारिक टिपण्णी नहीं की गयी है लेकिन मात्र इस खबर से ही की रजनीकांत राजनीति में आने वाले है विरोध प्रदर्शन भी शुरू होने प्रारंभ हो चुके है |

प्राप्त जानकारी के आधार पर बताया जा रहा है की रजनीकान्त के राजनीति में आने की खबर के बाद तमिल मुन्नेत्र पदई नाम के संगठन के सदस्यों ने पोएस गार्डन स्थित उनके घर के आस-पास प्रदर्शन किये है जिसके बाद दक्षिण के इस भगवान् के घर के आस-पास सुरक्षा बढ़ा दी है |

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है कि रजनीकांत के नजदीकी ने बताया है कि जब हमें पता चला है की प्रदेश के कुछ राजनैतिक संगठन उनके घर के सामने प्रदर्शन की योजना बना रहे है तब हमने पुलिस सुरक्षा की मांग की थी | उन्होंने कहा है की फिलहाल सबकुछ नियंत्रण में है | आपको बता देते है कि रजनीकांत (67) ने कुछ तमिल लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर घृणा फैलाने पर निराशा जताई थी, जिसके बाद ये प्रदर्शन शुरू हो गए |

आपको बता दें कि रजनीकांत ने अपने प्रशंसकों के साथ चर्चा के दौरान कहा था कि, कुछ लोग शोशल मीडिया पर घ्रणा फैला रहे है जिससे मुझे काफी दुख हुआ है | उन्होंने कहा है की मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था कि वी लोग इतना ही गिर जायेंगे | रजनीकांत के इस बयान के बाद से ही तमिल पार्टी मुन्नेत्र पदई ने रजनीकांत से माफी की मांग की थी |

गौरतलब है की रजनीकांत पिछले काफी समय से चर्चा में है | चर्चा इस बात की है कि रजनीकांत राजनीति में आ सकते है और इसके अलावा वे चर्चा में इसलिए भी है क्योंकि उन्होंने खुद को तमिल कहा था | खुद को तमिल कहने के मामले पर आलोचना का शिकार होना पड़ा था | गौरतलब है कि रजनीकांत ने कहा था की “मैं 23 वर्षो तक कर्नाटक में रहा और 43 वर्षो से तमिलनाडु में रह रहा हूं। मैं कर्नाटक से एक मराठी के तौर पर यहां आया था, आप लोगों ने बहुत प्यार दिया, मुझे एक सच्चा तमिल बना दिया|” उन्होंने कहा कि वह सही समय आने पर राजनीति में आने का फैसला करेंगे |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY