मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत मनोरोग अब अभिशाप नही

0
67

उन्नाव(ब्यूरो)- हसनगंज मुख्यालय पर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर माह के प्रत्येक तीसरे बृहस्पतिवार को मनोवैज्ञानिक चिकित्सक विकास् दीक्षित मॉनिटरिंग अधिकारी दीपक साहू, कॉउंनस्लर सरस्वती रानी की टीम ने मनोरोगियों का परीक्षण कर उपचार शुरू किया|

जिसमे चिकित्सक ने बताया कि राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत डिप्रेशन, घबराहट अनिंद्रा नशा याददआसत, कमजोरी पढ़ाई में मन कम लगना, कम बुद्धि, मिर्गी दौरे ,जैसे योगों के लिए प्रत्येक माह के तीसरे C H C व जिले पर सोमवार बुधवार शुक्रवार गाँवों में टीम पहुच कर मनोरोगिये को चिन्हित करके अभियान चला रहे है जिसमे कार्यक्रम मनोरोगियों को निःशुल्क उपचार व दवाइयों का प्रावधान किया गया है|

डॉक्टर दीक्षित ने बताया कि अवसाद नामक रोग की पहचान कर सकते है जैसे उदास मन अथवा पच्याताप की भावना , नीद कम आना या अत्याधिक आना , किसी काम मे मन न लगना , उलझन एवम घबराहट होना, वजन कम या ज्यादा होना, निराशा के भाव , ऐसा प्रतीत होना की जिंदगी बेकार है ,आत्महत्या के विचार आना, यौन इच्झा मे कमी , रोने की इच्झा आदि जैसे रोगों की लक्षणों को हम आसानी से पहचान कर सकते है

रिपोर्ट-राहुल राठौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here