जनता हर बात का जवाब पीएम से चाहती है, जिसके कारण असली गुनाहगार बच जाते हैं : पीएम

0
3634

Mumbai: Prime Minister Narendra Modi during the inaugural ceremony of Maritime India Summit 2016 in Mumbai on Thursday. PTI Photo by Mitesh Bhuvad(PTI4_14_2016_000006b)

देश के प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने आज अमेरिका की तर्ज पर भारत में भी टाउन हॉल की शुरुवात की, इंदिरा गाँधी स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में पीएम मंदी ने जनता के सवालों के जवाब दिए |

इस कार्यक्रम में पीएमओ ऐप भी लांच किया गया, इस ऐप के जरिए देश के लोग सीधे प्रधानमंत्री वेबसाइट से जुड़ सकेंगे |

इस अवसर पर लोगों से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में लोकतंत्र की परिभाषा दिन-प्रतिदिन विकृत होती जा रही है, लाकतंत्र का अर्थ सिर्फ यही रह गया है कि vot दो और पांच साल के लिए अपनी सभी समस्याओं की ज़िम्मेदारी किसी और को सौंप दें |

पांच साल बाद अगर वो विफल रहा तो वो ये ज़िम्मेदारी किसी और को दे दो, चुनाव जीतते ही सरकारें दूसरे चुनाव का आधार तैयार करने में लग जाती हैं, जिसके कारण जिन वादों को लेकर सरकारें चुनाव लड़ती हैं वो सभी वादे शुरू होते ही ख़त्म हो जाते हैं, इस सब के चलते हमारे देश में गुड गवर्नेंस, चेक एंड बैलेंस की व्यवस्था, स्क्रूटनी, जिम्मेदारी और उसके प्रति जवाबदेही आदि के प्रति उदासीनता प्रवेश कर गयी है | देश के हालातों में परिवर्तन के लिए जितना महत्त्व नीतियों का और योजनाओं का है उतना महत्त्व अंतिम व्यक्ति तक उसके पहुँचने का है |

उन्होंने कहा कि आपने जो योजना बनायी है उसका लाभ अंतिम आदमी तक नहीं पहुंचा तो कुछ दिन के लिए तो प्रशंसा मिल सकती है लेकिन जनता के जीवन में बदलाव नहीं आएगा, सरकारी पैसे से अस्पताल, पुलिस स्टेशन आदि तो बनाये जा सकते हैं, लेकिन गुड गवर्नेंस ना होने पर लोगों को इसका लाभ नहीं मिल सकेगा मतलब गुड गवर्नेंस के बिना विकास अपूर्ण है |

पीएम ने कहा हमारे देश में अगर पंचायत या जिला पंचायत में कुछ होता है या किसी राज्य में कुछ हो जाए तो उसका जवाब प्रधानमंत्री से मांगा जाता है, ऐसा करना राजनितिक रूप से उचित हो सकता है, न्यूज़ चैनलों की टीआरपी के लिए अच्छा हो सकता है पर लोकतंत्र और गुड गवर्नेंस के लिए यह सही नहीं है, इस प्रकार के व्यव्हार से प्रधानमंत्री के अलावां बाकी सब निश्चिन्त हो जाते हैं क्योंकि जिम्मेदारी तो उनकी है पर जवाब उनसे नहीं मांगा जाता |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here