भीषण गर्मी के चलते आमजन का जीवन त्रस्त

0
73

फतेहपुर चौरासी/उन्नाव : भयंकर गर्मी से आम जनता बेहाल है। पिछले एक पखवाड़े से तापमान में लगातार हो रही बढ़ौतरी से पारा 47 डिग्री पहुंच गया है। चिकित्सकों के अनुसार इस मौसम में सिर को ढककर रखें व भूखे पेट धूप में निकलने से बचे। दोपहर के समय ज्यादा जरूरी होने पर ही पशु को बाहर निकालें।

 

धूप में घूमने वाले प्याज का सेवन अधिक करें व दिन में कम से कम 8-10 लीटर पानी पीएं। नींबू पानी व छाछ का अधिक सेवन करें व गरिष्ठ भोजन से परहेज करें। एलर्जी की समस्या हो तो दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीएं व एलर्जी से बचने के लिए काली मिर्च के 4 से 6 दाने चबाएं।

 

इस तपते मौसम में सबसे बुरा हाल बेसहारा पशुओं का है। सुबह 8 बजे ही गर्मी का प्रकोप शुरू हो जाता है जो रात्रि के 9 बजे तक जारी रहता है। इस भयंकर गर्मी में बेजुबान जानवर छाया व पानी के लिए भटकते रहते हैं। क्षेत्र के पशु-पक्षी प्रेमियों ने कुछ स्थानों पर बेजुबान जानवरों के पीने के लिए पानी का प्रबंध भी किया है। बढ़ते पारे के कारण दुधारू पशु हीट-स्ट्रोक का शिकार हो रहे हैं जिससे इन पशुओं का दूध सूखने लगा है। पशु पालकों के अनुसार दुग्ध उत्पादन में 25 से 30 प्रतिशत तक की गिरावट आई है।

 

इस भयंकर गर्मी में पशुओं को लू व सीधी धूप से बचाना चाहिए। पशुओं को ज्यादा से ज्यादा पानी पिलाएं व दिन में 3-4 बार नहलाएं। हीट-स्ट्रोक की चपेट में आने वाले पशुओं का योग्य चिकित्सक से उपचार करवाएं। समाजसेवी रघुनाथ प्रसाद शास्त्री ने क्षेत्र की जनता से आग्रह किया है कि अपने घरों के बाहर पशुओं के पीने के लिए पानी रखें, ताकि पशु अपनी प्यास बुझा सकें। पक्षियों के लिए भी घरों की छतों पर दाने-पानी की व्यवस्था करें।

रिपोर्ट : रघुनाथ प्रसाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here