जुलूस अथवा आम सभा किसी भी सार्वजनिक स्थल पर बिना पूर्व अनुमति के आयोजित नहीं: ए.के.श्रीवास्तव

0
142

मैनपुरी -अपर जिला मजिस्ट्रेट ए.के.श्रीवास्तव ने बताया कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन की घोषणा होने से जनपद में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो चुकी है। इस दौरान अनेक जुलूस,रैलियो का आयोजन होगा जिसमें काफी फीड़ एक़ित्रत होगी। भीड़ के दौरान असामाजिक तत्वों के साथ-साथ कतिपय संगठन अपने स्वार्थ के लिए अराजक एवं असामाजिक तत्वों के सहयोग से विभिन्न जातियों,सम्प्रदायों एवं जन सामान्य के मध्य वैमनस्य,द्वेष,दुर्भावना का वातावरण उत्पन्न कर लोक शान्ति विक्षुब्ध करने हेतु प्रत्यक्ष,परोक्ष रूप से संलिप्त हो सकते है। विधान सभा सामान्य निर्वाचन के दौरान राजनैतिक दलो,संगठनो,संस्थाओ आदि के जुलूसो,प्रदर्शन व सभाओ से भी जनशान्ति एवं जन सुरक्षा प्रभावित होने की सम्भावना ,शान्ति, कानून व्यवस्था को बनाये रखने हेतु जनपद धारा 144 दं0प्र.सं. के अन्तर्गत आवश्यक निषेधाज्ञा निर्गत की जाती है।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने धारा 144 दं0प्र.सं0 के अन्तर्गत निम्न आदेश पारित किये जाते है कि उक्त अवधि में कोई भी व्यक्ति/व्यक्तियों का समूह अथवा राजनैतिक संगठन किसी प्रकार का जुलूस अथवा आम सभा किसी भी सार्वजनिक स्थल पर बिना पूर्व अनुमति के आयोजित नहीं करेगा, सभा आयोजन के संबंध में संबंधित थाने को सूचना देनी होगी। कोई व्यक्ति/संगठन जातिवाद वर्गवाद एवं समुदाय विशेष की भावनाये भड़काने का प्रयास नहीं करेगा और न ही धार्मिक विद्वेष की भावना को भड़काने वाले मुद्दो को बढ़ा चढ़ा कर प्रस्तुत करेगा और जूलूस धरना प्रदर्शन,यातायात अवरूद्ध/जाम लगाने आदि की कार्यवाही एवं किसी व्यक्ति का पुतला या फोटोग्राफ जलाने,विदूषित करने एवं सार्वजनिक रूप से नष्ट नहीं किया जायेगा। कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर आग्नेयास्त्र,लाइसेन्सी शस्त्र,चाकू ,कृपाण (निर्धारित माप का कृपाण रखने वाले सिख समुदाय के व्यक्तियों पर लागू नहीं) भाला एवं लाठी डंडा आदि लेकर न तो विचरण करेगा और ना ही उनका प्रयोग करेगा और ना ही किसी को उक्त शस़्त्रों को प्रयोग करने हेतु अभिप्रेरित करेगा।
अपर जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि इस दौरान किसी भी सार्वजनिक स्थान पर पांच या पांच से अधिक व्यक्ति एक स्थान पर एकत्रित नहीं होगें, और बिना पूर्व अनुमति के ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग नहीं किया जायेगा। यह आदेश सम्पूर्ण जनपद में 28 फरवरी 17 की रात्रि तक प्रभावी रहेगा यदि इस बीच में वापस न ले लिया जाये इस आदेश की किसी धारा या अनुच्छेद का उल्लंघन धारा-188 आई0पी0सी0 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा। चूंकि समस्त विपक्षीगणों को सूचित करने का समय नहीं है अत; यह आदेश एक पक्षीय रूप से जारी किया जा रहा है।
रिपोर्ट –दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here