पुलिस और वन विभाग की मिली भगत से काटे जा रहे है आम के हरे-भरे पेंड

0
80

चकलवशी (ब्यूरो)- पर्यावरण संरक्षण को लेकर राज्य सरकार से लेकर कई सामाजिक संगठनों द्वारा लोगों को पेड लगाने के लिए प्रेरित किया जाता है कि पेड लगाओ पानी बरसाओ | वही वन विभाग व पुलिस की मिलीभगत से प्रतिबंधित आम के हरे व फलदार पेड़ों पर खुलेआम कुल्हाड़ी चल रही है।

माखी पुलिस के रनागढी गांव में मनोज पंडित का गांव के बाहर आम के पेड़ो का बगीचा है जिसके पेड उसने बेच दिए वाहिद ठेकेदार बागरमऊ के हाथ करीब दो दर्जन से अधिक आम के हरे पेड़ो की कटाई करके उसकी लकडी ट्रैक्टर ट्रॉली मे लाद कर ऊपर से तिरपाल ढक कर ले जायी जा रही है और यह सब कुछ हो रहा है पुलिस की सांठ गांठ के चलते जबकि प्रतिवर्ष लाखो करोड़ों रुपए खर्च कर लोगों को इस बात के लिए प्रेरित किया जाता है कि पर्यावरण संरक्षण के लिए फल दार व छाया दार पेड़ों को अधिक से अधिक लगा कर दूषित पर्यावरण को नुकसान होने से बचाया जा सके|

वही पुलिस व वन विभाग के कर्मचारी आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए प्रतिबंधित आम के हरे पेड़ो पर कुल्हाड़ी चलवा रहे हैं पुलिस को चढवका चढाने के बाद खुलेआम छूट दे दी जाती है।

रिपोर्ट- अशोक दुबे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here