प्रभु की रेल पर सवाल, 11 डिब्बे पटरी से उतर गए

0
73

उन्नाव(ब्यूरो)- यूपी में लगातार रेल हादसे देखने को मिल रहे है। और एक के बाद एक रेल हादसे होते हुए कई लोगो की जान भी चली गयी। वहीँ प्रभु की रेल पर सवाल भी उठते चले आये है। अभी तक हुए रेल हादसों में सैकड़ो लोग अपनी जान भी गवां चुके है।

वहीँ आज उन्नाव में उन्नाव के रेलवे स्टेशन के दो सौ मीटर की दुरी पर मुम्बई टू लखनऊ लोकमान्य तिलक टर्मिनल डिरेल हो गयी । जिसके 11 डिब्बे पटरी से उतर गए। हालांकि इस रेल हादसे में किसी के भी हताहत होने की कोई खबर नही आयी है। रेल के डिरेल होने की खबर प्रशासन में आग की तरह फैल गयी। जिसके बाद प्रशानिक अमला मौके पर पंहुचा। वहीँ डिरेल लोकमान्य तिलक टर्मिनल में बैठे पैसेन्जर्स आनन् फानन ट्रेन से बाहर आ गए। और अपनी जान बचाई।

उन्नाव के रेलवे स्टेशन पर उस समय ट्रेन हादसा सामने आया जबकि मुम्बई से लखनऊ जाने वाली लोकमान्य तिलक टर्मिनल स्टेशन से 100 मीटर की दूरी पर डिरेल हो गयी। हालाकि इस हादसे में कोई भी पैसेंजर हताहत नही हुआ है।

ट्रेन के 11 डिब्बे पटरी से नीचे उतरे है। ऐसे में ट्रेन रूट बाधित हुआ है। जिसको सुचारु रूप से दोबारा जल्द से जल्द चालू करने के लिए घटनास्थल मौके पर कानपुर और लखनऊ से एनडीआरएफ की टीम और उन्नाव आरपीएफ और जीआरपी उन्नाव स्टेशन पहुँची। अभी भी यहाँ पर लखनऊ से अधिकारी और लखनऊ डीआरएम मौके पर पहुच रहे हैं। वहीँ डिरेल ट्रेन के यात्रियों को लखनऊ पहुचाने के लिए एक ट्रेन और 8 रोडवेज बसें व् कई प्राइवेट गाड़िया लगायी गयी है।

उन्नाव के जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। हालांकि अभी तक डिरेल हादसे का कोई भी पुख्ता सबूत प्रशासन के हाथ नही लगा है। जिससे की यह जानकारी हो सके की यह हादसा कैसे हुआ या फिर कौन इस हादसे का जिम्मेदार है।

इससे पहले भी उन्नाव में एक मालगाड़ी डिरेल हुई थी। और उस हादसे को रेलवे प्रशासन और एटीएस ने बाद में आतंकवादी गतिविधि बताई थी। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या फिर से उन्नाव में आतंकियों की कोई साजिश थी रेल हादसे को अंजाम देने की।

रिपोर्ट-रामजी गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here