प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में संदेह के घेरे में डीओ कार्यालय, की गयी पूछताछ

0
124

समस्तीपुर ( ब्यूरो )- मैट्रिक की परीक्षा शुरू होने के दिन से ही प्रश्न पत्र लीक करके इसे वायरल किए जाने के मामले में समस्तीपुर के जिला शिक्षा पदाधिकारी का कार्यालय संदेह के घेरे में आ गया है|

जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने स्वयं इस मामले में कड़ा रूख अख्तियार कर लिया है| वैसे तो सरकारी स्तर पर इससे संबंधित चल रही जांच-पड़ताल को काफी गुप्त तरीके से किया जा रहा है|

लेकिन जो भी बाते सामने आ रही है| उससे पता चलता है कि कही न कही प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में डीओ का कार्यालय निश्चित ही संदेह के घेरे में है|

सूत्रों के अनुसार ये पता चला है कि शुक्रवार की देर शाम समस्तीपुर के सदर एसडीओ देवेन्द्र कुमार प्रज्वल एवं डीएसपी तनवीर अहमद ने अचानक डीओ कार्यालय पहुचकर वहां के कई संदिग्ध रजिस्टर एवं मोबाइल को जप्त किया है|

इसी के आधार पर जांच-पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए शनिवार की शाम पुनः जांच टीम में शामिल अधिकारी शैलेन्द्र कुमार एवं मनोज कुमार ने जिला शिक्षा पदाधिकारी बी.के. ओेझा से लगभग 1 घंटे तक पूछताछ की है| इस संबंध में मैट्रिक परीक्षा के दूसरे दिन ही जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने भी पत्रकारो से बताया था प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में उन्हे भी सूचना मिली है कि जिसकी सत्यता की जांच-पड़ताल करायी जाएगी|

उन्होेने यह भी कहा था कि यह काम कुछ सरारती तत्वो द्वारा किया जा सकता है| जिसकी जांच-पड़ताल के बाद स्थिति स्पष्ट होने पर ऐसे तत्वो पर कार्रवाई की जाएगी|

मामला जो भी हो लेकिन शहर में चर्चा है कि प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में निश्चित ही डीओ कार्यालय की सलिप्तता है| इधर, डीओ बीके ओझा ने इस संबंध में बताया कि प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में उनके कार्यालय का कोई लेना-देना नही है| जांच चल रही है| मामला स्वंय स्पष्ट हो जाएगा |

रिपोर्ट-रंजीत कुमार 

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here