सबसे बड़े माफिया राज गुटखा की फैक्ट्री पर छापा, लाखों का माल बरामद 

जालौन(ब्यूरो)- अवैध गुटखा कारोबार के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत सोमवार को जिले के सबसे बडे गुटखा माफिया राज गुटखा की फैक्टी पर सिटी मजिस्टेट ने दल-बल के साथ छापा मारा। यहां से बडी मात्रा में लाखों का माल बरामद हुआ। एक सैकडा से अधिक बोरी मिश्रित गुटखा भी पकडा गया। छापा मारने पहुंचे अधिकारियों को गुटखा कारोबार के मुनीम ने आधा घंटे तक इंतजार करवाया। इसके बाद जब फैक्टी का दरवाजा खुला तो अधिकारियों के भी होश उड गए। मौके पर मौजूद मुनीम को गिरफतार कर कोतवाली भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि समूचे बुंदेलखं डमें उरई शहर अवैध गुटखा कारोबार की सबसे बडी मंडी बनकर उभरा है। यहां पर हर  माह करोडों रुपए का अवैध गुटखे का कारोबार होता है। इसे लेकर दैनिक भास्कर द्वारा लगातार खबरें भी प्रकाशित की जा रही थीं। इसे गंभीरता से लेते हुए सिटी मजिस्टेट नत्थू प्रसाद पांडेय ने अवैध गुटखा कारोबार के खिलाफ अभियान शुरू किया है। इसी क्रम में सोमवार को उन्होंने फूड इंस्पेक्टर मानसिंह निरंजन के साथ तुलसी नगर में एक मकान में चल रही राज गुटखा फैक्टी पर छापा मारा।

दल-बल के साथ पहुंचे सिटी मजिस्टेट को मौके पर अवैध गुटखा कारोबार का मुनीम रामजी गुप्ता निवासी आटा मिला। पहले तो मुनीम ने दरवाजे पर लगे ताले की चाबी न होने की बात कही और आधा घंटे तक अधिकारियों को इंतजार करवाता रहा। इसके बाद जब मुनीम की तलाशी ली गई तो ताले की चाबी उसी के पास मिली। इसके बाद जब अधिकारियों ने फैक्टी के अंदर प्रवेश किया तो उनके होश उड गए। मकान के अंदर बडे पैमाने पर अवैध गुटखा बनते हुए पाया गया। टीम ने मौके से 127 बोरी तंबाकू मिश्रित गुटखा व 54 बोरी सुपाडी बरामद की। इसके अलावा बडी मात्रा में प्लास्टिक के पाउच, जहरीली तम्बाकू आदि बरामद की गई। मौके से पकडे गए गुटखा कारेाबार के मुनीम रामजी गुप्ता को गिरफतार कर कोतवाली भेज दिया गया है। वहीं गुटखा मालिक संजू गुप्ता पुत्र जायसवाल गुप्ता निवासी गोहन हाल निवास तुलसी नगर के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। बरामद किए गए मिश्रित गुटखा का सैम्पुल जांच के लिए भेज दिया गया है।

सीएम के बुलाने पर भी नहीं आईं अभिहित अधिकारी-
गुटखा माफियाओं से सांठ-गांठ को लेकर चर्चा में रहने वालीं अभिहित अधिकारी प्रियंका सिंह की कार्यशैली से  सोमवार को सिटी मजिस्टेट भी नाराज नजर आए। जब उन्होंने राज गुटखा फैक्टी पर छापा मारा तो इसकी सूचना अभिहित अधिकारी प्रियंका सिंह को भी दी और उन्हें मौके पर आने को कहा। लेकिन सिटी मजिस्टेट के बुलावे के बाद भी अभिहित अधिकारी प्रियंका सिंह मौके पर नहीं पहुंचीं। उनकी यह गुस्ताखी सिटी मजिस्टेट को नागवार गुजरी। उन्होंने अभिहित अधिकारी प्रियंका सिंह के खिलाफ कार्रवाई के लिए उच्च अधिकारियों को संस्तुति भेजी है। इसके साथ ही प्रियंका सिंह से स्पष्टीकरण भी मांगा है कि शहर में इतने बडे पैमाने पर चल रहे अवैध गुटखा कारोबार को लेकर वह क्या कर रही हैं? बहरहाल इतना तो तय है कि अब सिटी मजिस्टेट की नाराजगी के बाद अभिहित अधिकारी प्रियंका सिंह की मुश्किलें बढने वाली हैं।

गुटखा माफियाओं में मचा रहा हडकंप-
जिले के सबसे बडे अवैध गुटखा कारोबारी के यहां प्रशासन के छापा के बाद शहर के अन्य गुटखा माफियाओं में भी हडकंप मचा रहा। गौरतलब है कि राज गुटखा इन दिनों जिले में बडे स्तर पर पैर जमा चुका है। इसके विभिन्न नामों से कई गुटखे बाजार में बिक रहे हैं। इस गुटखा माफिया की सेटिंग इतनी तगडी है कि आम तौर पर इस पर कार्रवाई नहीं होती है। पर सोमवार को जब सिटी मजिस्टेट ने इसके यहां भी छापा मार दिया तो शहर के अन्य गुटखा माफियाओं में हडकंप मच गया।

बडे पैमाने पर टैक्स चोरी भी करता है माफिया-
सोमवार को कार्रवाई की जद में आए राज गुटखा माफिया की परतें अब खुलने लगी हैं। कार्रवाई के दौरान यह बात भी सामने आई है कि उक्त गुटखा कारेाबारी बडे पैमाने पर टैक्स चोरी भी करता हैै। लिखा पढी में मात्र चंद बोरी गुटखा बिक्री दिखाई जाती हैं। जबकि हकीकत के धरातल पर रोजाना  हजारों बोरी गुटखा का कारोबार होता है। इस बारे में सिटी मजिस्टेट ने कहा कि इसे लेकर वह सेल टैक्स विभाग के अधिकारियों से भी संपर्क करेंगे।

गुटखा ही नहीं, साबुन, सर्फ, अगरबत्ती से लेकर सब कुछ बनता है-
सिर्फ राज गुटखा ही नहीं, बल्कि इस नाम से साबुन, सर्फ, पूजा अगरबत्ती, मच्छरों वाली अगरबत्ती से लेकर सब कुछ इस नाम से बनाया जाता है। उक्त गुटखा माफिया गुटखा के साथ ही अन्य क्षेत्रों में भी अपने पैर जमाने के प्रया समंे है। पर सोमवार को यह कार्रवाई के बाद उसे बडा झटका लगा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY