रामलीला का मंचन देख ग्रामीण दर्शक हुये मंत्रमुग्ध

0
161

ram lila

कोंच (जालौन)- श्री रामलीला समिति पहाड़गांव के कलाकारों द्वारा धनुष भंग की लीला का किया गया कुशल मंचन तथा कमेटी के द्वारा बुलाये गये मुख्य अतिथि ने रंगकर्मियों और सभ्रांतजनों को सम्मानित किया।

ग्राम पहाडगांव में आयोजित श्रीराम की लीला का अवलोकन कर दर्शनार्थी हुये भाव विभोर खूब की करतल ध्वनि और डूबे रहे साहित्य समागम में | श्री राम और जनकपुरी की सखियों का संवाद में दिखा साहित्य भाषा जो दर्शकों को खूब भाया जनक का संताप और लक्ष्मण का क्रोधित होना विश्वामित्र द्वारा श्री राम को धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाकर जनक का संताप हरने का आदेश देना और अन्त मे लक्ष्मण परशुराम संवाद आदि लीलाओं का कुशल मंचन कलाकरों द्वारा किया गया।

जनक की भूमिका में अशोक राजपूत श्री राम की भूमिका मे गुड्डू उपाध्याय सीता की भूमिका हरिऊ राजपूत लक्ष्मण की भूमिका में कज्जू सीरौठिया रावण की भूमिका सीतेष राजपूत वाणासुर की भूमिका पंचम राजपूत विश्वामित्र की भूमिका रमाकांत सीरौठिया ने निभायी। व्यवस्था मे रहे विजय किशोर दाऊ, रामवावू शर्मा, रोमी पचैरी मिथलेश राजपूत, राजेश राजपूत, अर्जुन राजपूत, हरगोविन्द प्रधान, प्रदीप राजपूत, काशीराम महाते, मोतीलाल महाते वीरेन्द्र आदि। आयोजन के मुख्य अतिथि विनय कुमार पचैरी अवर अभियंता ने अपने पूज्य पिताश्री पूर्व प्रधान श्यामसुन्दर पचैरी की पुण्य स्मृति में कलाकारों समाजसेवियों व पत्रकारों को मालापहिनाकर व शाल ओढ़कर सम्मानित किया।

दूर दूर तक नही दिखे जुआरी-
जनपद जालौन की कोंच तहसील मे श्रीरामलीला महोत्सव के साथ साथ जुआ का जबरदस्त प्रचलन चलने लगा है लेकिन यहां इसका असर दूर-दूर तक नहीं दिखा समिति के लोगों ने जुआरियों पर प्रतिबंध लगाया श्रीराम की लीला का ही मंचन पर विशेष जोर दिया।
रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY