राशन के फैसले: काला बाज़ार पर योगी सरकार की आफत

0
90

सफीपुर/उन्नाव(ब्यूरो)- कस्बे में सप्ताह के भीतर एक तेल डिपो एवं दो राशन दुकानों पर ताबड़ तोड़ छापो से जहाँ राशन माफियाओं में भय व्याप्त हो रहा है । वही आम जन मानस में खुशी के साथ की आशा की किरन जगी है ।

सभी जानते है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिर्फ लूट खसोट का अड्डा बन कर रह गयी है। पिछले सरकारों द्वारा अपनाए गए उदासीन रवैये की बिना पर स्थिति इतनी खराब हो गई कि आम आदमी अपना राशन कार्ड हाथ मे लिए कोटेदार के दरवाजे पर अपना ही राशन लेने के लिए कई-कई दिन चक्कर लगा कर थक कर बैठ रहता था । कोटेदारों की सप्लाई ऑफिस से मिली भगत का यह हाल हो गया था कि वहाँ जनता की कोई सुनवाई होती ही नही थी ।

अभी कुछ समय पहले यहाँ तहसील में तैनात पूर्ति निरीक्षक श्री राना तो इतने बदनाम थे कि आम आदमी तो दूर प्रेस एवं अन्य नेता श्रेणी के लोगो से भी सीधे मुँह बात नही करते थे। अभी कुछ ही दिन पहले उनका स्थान्तरण हो गया तो उनके जाने के बाद भ्र्ष्टाचार के विरुद्ध कुछ बदलाव देखने को मिल रहा है । लगभग एक वर्ष से जनता से कई बार नही नए राशन कार्डों के लिए फार्म मांगे गए परन्तु पूर्ति विभाग में व्याप्त भृष्टाचार के नाम पर कई कई बार जनता को फार्म भरना पड़े। नगर पंचायत कार्यलय से तहसील तक अपना राशन कार्ड बनवाने में फुटबॉल बन चुके उपभोक्ताओं को अंत तक ये नही मालूम हो सका कि उनका फार्म जमा हो गया या नही ऑनलाइन भरे गए फर्मो में भी बहुत से उपभोक्ता राशन कार्ड से वंचित रह गए कारण ये पता चला कि नई नीति के तहत बनने वाले राशन कार्ड भी पूर्ति विभाग द्वारा कोटेदारो को बिठा कर उनके मन माफिक सूचिया तैयार की गई । कि महीनों से वितरण में कुछ कोटेदार पुराने राशन कार्डों के अनुसार राशन देते रहे वह कुछ कोटे दर नई सूची जो इंटरनेट पर उपलब्ध है के अनुसार राशन देते रहे । चूँकि डिजिटल राशन कार्ड अभी बने नही है तो उपभोक्ताओ को ये भी नही मालूम कि उनका नाम सूची में है भी की नही ।

नगर के गुड्डा चौराहा नामक स्थान से 500 मीटर की दूरी में चार कोटेदारो के मकान स्थित है इसलिए यह इलाका राशन से सबन्धित मामलो का गढ़ बन चुका हूं । कोटेदारो की मनमानी की शिकार जनता की माने तो इन्ही में से कुछ कोटेदार का नेटवर्क बहुत बड़ा है इनमे से एक नए अपनी चक्की लगा रखी है जिसमे राशन का गेंहू पीसा जाता है एवं उसी के निजी भवन में पूर्ति विभाग ने अपना भंडार बना रखा है जहाँ से क्षेत्र के सभी कोटेदारो को मार्केटिंग स्पेक्टर द्वारा खाद्यान का आवंटन किया जाता है गेंहू एवं चावल आदि की ब्लैक मार्केटिंग का यही मुख्य केंद्र है
माना जाता है जिसमे भवन स्वामी कोटेदार की मुख्य भूमिका रहती है लोगो का कहना है कि एक अन्य कोटेदार ने भी उन्नाव में मिनी फ्लोर भी लगा रखी है इस कोटेदार का गेहूं एवं चावल तथा मिट्टी का तेल रात में 4 बजे के आस पास अब पुलिस पिकेट के सिपाही वापस चले जाते है तब तीन पहिया साइकिल ठीलिया से बब्बन अंडे की दुकान से के पास से लोड होकर ब्लैक मार्केटिंग के लिए ले जाया जाता है |

लोगो का मानना है कि कोटेदार की संपत्ति की सही जांच हो जाये तो नतीजे चौकाने वाले होंगे अबकी आये के अन्य स्त्रोत कोई नही है । आस पास के लोग बताते है कि एक कोटेदार ले घर पर सपा सरकार के बड़े नेताओं का आना लगा रहता है तथा पिछली सरकार में बड़े रसूख होने के कारण ही वे लगाम शैकि में रासन की काला बाज़ारी होती रही है और आम जनता की सुनवाई नही होती है |

अब जब सरकार बदली है तो आम जन मानस का कुछ हौशला बढ़ा और इस सप्ताह कोटेदार की मनमानी की शिकायत पर मौजूदा परगनाधिकारी ने कार्यवाही कारते हुए खुले तौर में हो रही वितरण में हो रही मनमानी को पकड़ा और कोटा निरस्त करने की कार्यवाही हुई तथा उसके बाद गुप्ता पेट्रोल पंप के पास स्थित मिट्टी के तेल के डिपो पर कोटेदारो को आवंटित किए जाने वाले तेल में प्रति ड्रम 20 से 30 लीटर काम दिए जाने की शिकायत पर छापा मार कर संचालक एवं मैनेजर के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी। इसी क्रम में कल एक और कोटेदार के विरुद्ध मिली शिकायत पर छापेमारी की गई, जिसमें भी गंभीर अनिमित्ताये पायी जाने की जानकारी भिकने की बात बतायी जा रही है| बरहाल योगी सरकार ने पहली बार हो रही छापेमारी में जहां एक और राशन माफियाओ में हड़बड़ी मची हुई है। इससे पहले ले दे कर अपनी बहाली कर लेने में दच्छ कोटेदार फिर जोड़ तोड़ में लग गए है और उन्हें जल्दी ही बहाल होने की उम्मीद है वही दूसरी ओर अब तक असहाय बने वह उपभोक्ता एवं आम लोगो मे खुशी की लहर है लोगो का मानना है कि जांच अगर प्रभावित न हुई तो खुलेआम ब्लैक मॉर्केटिंग पर अंकुश तो लगेगा ही एवं पूर्ति विभाग में बैठे कुछ भ्रष्ट लोगो के साथ ऐसे कोटेदार को उनके किये की सज़ा भी मिलेगी।

रिपोर्ट- धर्मेद्र कुमार मौर्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here