राहुल गांधी हो सकते है उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के सीएम् कैंडीडेट ?

0
326

दिल्ली- भारत के चुनाव में सबसे अहम् भूमिका अदा करने वाले प्रदेश में जैसे-जैसे चुनाव की तारीखें नजदीक आती जा रही है वैसे-वैसे एक से बढ़कर एक खुलासों और एलानों का दौर भी शुरू होता जा रहा है I बता दें कि अब कांग्रेस की तरफ से एक और चौकानें वाले खुलासे की खबर आ रही है I बताया जा रहा है कि कांग्रेस के नए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को ऐसा लगता है कि यदि पार्टी को अपनी पहचान को दोबारा से बनानी है और अपनी खोयी हुई प्रतिष्ठा को वापस पाना है तो उसे इसकी शुरुआत उत्तर प्रदेश के चुनावों से ही करनी पड़ेगी I

बता दें कि खबर ये भी है कि प्रशांत किशोर का कहना है कि पार्टी के नेताओं और अन्य लोगों को अगर यह लगने लगेगा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी को और उन्हें जीत दिला सकते है तो ऐसे में 2019 में होने वाले लोकसभा के चुनावों में पार्टी को सत्ता में पुनः वापस लाने की राह आसान हो जाएगी I

इसे भी पढ़ें – क्या राहुल गांधी एक ब्रिटिश नागरिक हैं ?

प्रशांत किशोर ने पार्टी को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधान सभा के चुनाव में राहुल गांधी को कांग्रेस की तरफ सीएम् कैंडीडेट बनाया जाना चहिये I प्रशांत किशोर को ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश का चुनाव ही वो अहम् चुनाव है जो पार्टी को पुनः सत्ता में वापस ला सकती है और लोगों का भरोषा भी जीत सकती है I प्रशांत किशोर के अनुसार अगर राहुल गांधी के नाम पर कांग्रेस को कोई एतराज है तो वो राहुल गांधी की जगह प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश में सीएम पद के उम्मीदवार के तौर पर नॉमिनेट कर सकती है और अगर वो भी तैयार नहीं है तो शीला दीक्षित के ऊपर विचार किया जा सकता है I

हो सकता है कांग्रेस प्रदेश नेत्रत्त्व में बड़ा परिवर्तन –
खबरें ऐसी भी है कि उत्तर प्रदेश में 2017 में होने वाले चुनावों को देखते हुए पार्टी प्रदेश नेत्रत्त्व में कुछ अहम् परिवर्तन कर सकती है I हालाँकि कांग्रेस पार्टी की तरफ से अभी तक ऐसी कोई भी बात नहीं कही गयी है कि गांधी परिवार के किस सदस्य को पार्टी उत्तर प्रदेश में अपना चेहरा बनाएगी I मीडिया में आई ख़बरों के अनुसार बताया जा रहा है कि पार्टी प्रमुख फैसलों के बारे में 19 मई के बाद किसी भी दिन एलान कर सकती है क्योंकि 19 मई को कई राज्यों जैसे (असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु आदि) के चुनावों के नतीजे आने है उसके बाद पार्टी का पूरा ध्यान उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनावी घमासान पर होगा I

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY