रेल मंत्रालय ने ई-खानपान सेवा की शुरूआत की, 45 प्रमुख स्टेशनों पर यह सेवा उपलब्ध

0
154

xSureshPrabhu

2015-16 की रेल बजट घोषणा के अनुरूप भारतीय रेल ने भारतीय रेल खानपान एवं पर्यटन निगम लिमिटेड (आईआरसीटीसी) के जरिये ई-खानपान सेवाएं शुरू की हैं। इनका उद्देश्य रेल गाड़ियों में यात्रियों को उनकी पसंद का भोजन उनकी सीट पर ही उपलब्ध कराना है। जिन रेल गाड़ियों में भोजन-यान की सुविधा नहीं है, ऐसी 28 गाड़ियों में यह सेवा उपलब्ध कराने की शुरूआत की गई है। यह सेवा अब 1516 गाड़ियों में उपलब्ध है।

यात्रियों के लिए भोजन की उपलब्धता और गुणवत्ता में सुधार के लिए यात्रियों की सलाह पर रेल मंत्रालय ने रेल आधारित ई-खानपान योजना में विस्तार करने का निर्णय किया है। यह स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा के अतिरिक्त होगा। पहले चरण में पायलेट आधार पर ई-खानपान सेवा 45 प्रमुख स्टेशनों पर उपलब्ध करायी जाएगी। संशोधित योजना के तहत यात्रियों को निजी खानपान सेवा प्रदाताओं द्वारा आगामी स्टेशन पर यात्रियों की पसंद का भोजन प्रदान किया जाएगा। स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा केवल स्टेशनों पर उपलब्ध होगी, न कि चलती गाड़ी में।

योजना के अंतर्गत 45 स्टेशनों में हावड़ा, सियालदह, गुवाहाटी, न्यू जलपाईगुड़ी, पटना, भुवनेश्वर, विशाखापट्टनम, मुगलसराय, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ जंक्शन, वाराणसी, जयपुर, बिलासपुर, खड़गपुर, इलाहाबाद, लखनऊ (उत्तर रेलवे), गोरखपुर, आनंद विहार टर्मिनल, हजरत निजामुद्दीन, नई दिल्ली, दिल्ली, अमृतसर, चंडीगढ़, लुधियाना, सिकंदराबाद, तिरुपति, विजयवाड़ा, चेन्नई सेंट्रल, चेन्नई एग्मोर, एर्नाकुलम जंक्शन, कालीकत, मदुरै जंक्शन, त्रिशूर, तिरूवन्तपुरम सेंट्रल, बैंगलुरू सिटी, यशवंतपुर, नागपुर, पुणे, आगरा कैंट, ग्वालियर, झांसी, भोपाल, अहमदाबाद, मुंबई सेंट्रल, सूरत, वडोदरा शामिल हैं। जितनी गाड़ियां इन 45 स्टेशनों से होकर गुजरेंगी, उन सभी गाड़ियों में ई-खानपान सेवा उपलब्ध होगी। इसके अलावा आईआरसीटीसी अपने फूडप्लाजा और फास्टफूड इकाइयों के जरिये सस्ता भोजन “जन आहार” भी उपलब्ध कराएगा।

पाइलेट परियोजना के नतीजों के आधार पर यह स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा अन्य स्टेशनों पर भी उपलब्ध कराई जाएगी।

ई-खानपान सेवा www.ecatering.irctc.co.in पर ऑनलाइन या 0120-2383892-99 पर टेलीफोन करके अथवा टोलफ्री नम्बर 1800-1034-139 पर प्राप्त की जा सकती है। यात्री अपना पीएनआर नम्बर और सीट नम्बर दर्ज करते हुए 139 नम्बर पर एसएमएस भी कर सकते हैं। इस सेवा का नाम “फूड ऑन ट्रैक” रखा गया है।

इस सेवा का उद्देश्य यात्रियों को बेहतर गुणवत्ता और स्वास्थ्यपूर्ण भोजन उपलब्ध कराना है, जो यात्रियों को उनकी सीट पर ही उपलब्ध कराया जाएगा। यात्री अब अपनी पसंद का भोजन पहले ही चुन सकते हैं, जिन्हें उपरोक्त वेबसाइट या टेलीफोन या एसएमएस द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। मोबाइल एप्प द्वारा भी यह सुविधा जल्द शुरू की जाएगी। भोजन के लिए भुगतान ऑनलाइन भुगतान सेवा द्वारा प्रीपेड प्रणाली से या भोजन प्राप्त होने पर नकद द्वारा किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि ई-खानपान सेवा तेजी से बढ़ रही है और अक्टूबर में 400 से अधिक बुकिंग हुई थी।

आईआरसीटीसी ने सेवा प्रदाताओं और भोजन उपलब्धकर्ताओं के साथ ऐसी व्यवस्था की है कि यात्रियों को उनके द्वारा बुक किया गया भोजन समय पर उपलब्ध हो सके। यह भोजन रेलवे/ आईआरसीटीसी द्वारा अधिकृत व्यक्ति उपलब्ध कराएंगे। यात्रियों को भुगतान रसीद इलेक्ट्रानिक आधार पर या प्रिंटेड रसीद दी जाएगी। यात्री आईआरसीटीसी द्वारा निर्धारित समय के अंदर अपनी बुकिंग रद्द करवा सकते हैं। यह सुविधा भी यात्रियों को दी जाएगी। यदि भुगतान पहले किया जा चुका हो तो उसकी रकम वापस करने के लिए आईआरसीटीसी व्यवस्था करेगा और बुकिंग रद्द करने का शुल्क काटकर शेष रकम यात्री को वापस कर दी जाएगी।

आईआरसीटीसी ने विभिन्न प्रकार के भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिष्ठित खानपान कंपनियों के साथ समझौता किया है। इसके तहत पारंपरिक भोजन-थाली से लेकर पिज्जा आदि खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए केएफसी, मैक्डानल्ड, हल्दीराम, बीकानेरवाला, निरूला, सागर रत्ना, वांग्स किचन, श्रवण भवन, सब-वे, डोमिनो, पिज्जा हट और केलॉग्स जैसी कंपनियों को आमंत्रित किया गया है। आईआरसीटीसी हर स्टेशन के लिए कम से कम 5 कंपनियों/ ब्रांडों को चुनकर उनका पैनल बनाएगी।

आईआरसीटीसी/ रेलवे नियमित रूप से स्टेशनों पर निरीक्षण और जांच करेगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इस योजना के तहत यात्री जिस भोजन की बुकिंग कर रहे हैं वह सही मात्रा में, बेहतर गुणवत्ता में और सही कीमत पर साफ-सुथरे तरीके से यात्रियों को प्राप्त हो सके।

विदित हो कि स्टेशनों और गाड़ियों में भोजन उपलब्ध कराने के लिए आईआरसीटीसी एकमात्र कंपनी है। भोजन की बुकिंग और विवरण प्राप्त करने के लिए यात्री www.ecatering.irctc.co.in पर लॉग ऑन कर सकते हैं और 0120-4383892/9 या 1800-1034-139 पर संपर्क कर सकते हैं।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

one + 6 =