रेल मंत्री ने ट्रेन रोकवाकर रोते बच्चे को पिलाया दूध

0
245

दिल्ली- बीती सरकार में आपको याद ही होगा कि एक खिलाड़ी ने पानी न मिल पाने के कारण ट्रेन में दम तोड़ दिया था I भारतीय रेलवे में आये दिन एक न एक समस्याओं की शिकायत की जानकारी आपको विभिन्न संचार माध्यमों से मिलती ही रहती होगी I लेकिन देश का रेल तंत्र अचानक से इतना सुधर जाएगा इस बात की कभी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी I

दूध के बिना बिलखते हुए बच्चे को रेलमंत्री ने ट्रेन रोकवाकर पिलाया दूध –

आपको जानकर यह जानकर बेहद हैरानी भी होगी और ख़ुशी भी कि केंद्रीय रेलमंत्री ने एक पिता के ट्वीट करने पर एक ट्रेन को एक ऐसे स्टेशन पर रोकवा दिया जहाँ वह पहले कभी रूकती भी नहीं थी, वास्तव में मामला था कि सतेन्द्र यादव नाम के एक व्यक्ति जो कि ट्रेन में सफ़र कर रहे थे उनका परिवार भी उन्ही के साथ ट्रेन में था I

सतेन्द्र का बच्चा जिसकी उम्र मात्र डेढ़ वर्ष है वह दूध न मिलने की वजह से रो रहा था और ट्रेन में पैंट्री की सुविधा नहीं थी जिसकी वजह से सतेन्द्र अपने बच्चे को दूध नहीं दिला पा रहे थे इसके अलावा वह ट्रेन इलाहबाद स्टेशन से छूट चुकी थी और अब उसे सीधे कानपुर ही रुकना था I इस सफ़र ट्रेन को तक़रीबन 3-4 घंटे का समय बिताना पड़ता I कोई रास्ता न देखकर सतेन्द्र यादव ने रेलमंत्री सुरेश प्रभू को ट्वीट करके इस मामले की जानकारी दी I

रेलमंत्री सुरेश प्रभू ने तुरंत ही तत्परता दिखायी और उस ट्रेन को तुरंत ही फतेहपुर स्टेशन पर रोका गया आपको बता दें कि फतेहपुर में इस ट्रेन का स्टॉप नहीं था केवल बच्चे को दूध देने के लिए पूरी ट्रेन को फतेहपुर स्टेशन पर रोका गया और बच्चे को दूध देने के बाद तुरंत ही ट्रेन को फिर से रवाना कर दिया गया I

लोगों को जब इस बात का पता चला है तब से सोशल मीडिया और मीडिया में रेलमंत्री सुरेश प्रभू की खूब वाहवाही हो रही है I

यात्रियों के बदसलूकी करने पर सस्पेंड हो गयी एक रेलवे कर्मचारी –

मामला मुंबई का है और कुछ दिनों पुराना है I कुछ लोग मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनल स्टेशन पर टिकट लेने के लिए लाइन में खड़े हुए थे लेकिन टिकट देने वाली रेलवे की महिला कर्मचारी जिस समय टिकट देना था उस समय पैसे गिनने में जुटी हुई थी I

टिकट के इंतजार में खड़े लोगों ने महिला से निवेदन किया कि उन्हें टिकट दे दें बाद में पैसे गिन लेंगी लेकिन महिला ने यात्रियों से बदसलूकी प्रारंभ कर दी जिसके बाद तुरंत ही एक अन्य यात्री ने पूरे मामले की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली थी और उसने उस वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया था जिसके बाद रेलवे न केवल उस महिला कर्मचारी को सस्पेंड ही किया बल्कि रेलवे की तरफ से पूरे प्रकरण पर अफ़सोस भी जाहिर किया I

इन सभी मामलों को देखने के बाद तो बस यही कहने का दिल करता है कि रेल में सफ़र करने वालों के तो अच्छे दिन आ ही गए I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

five × five =