राजस्थान पुलिस ने मशहूर गैंगेस्टर आनंदपाल सिंह को किया गिरफ्तार

0
977

बहुचर्चित इन्द्रचंद अपहरण मामले में डीडवाना पुलिस ने गैंगस्टर आनन्दपाल सिंह के साथी इनामी बदमाश सोनू पावटा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। सोमवार को दोपहर बाद उसे दौलतपुरा-मौलासर के बीच एक होटल से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अब इस आरोपी से घटना की तस्दीक करवाने के साथ ही अनुसंधान और पूछताछ भी करेगी। उप पुलिस अधीक्षक नरसीलाल ने बताया कि सोमवार को पुलिस को इन्द्रचंद अपहरण मामले में वांछित आरोपी सोनू उर्फ सोहनसिंह के दौलतपुरा-मौलासर के बीच एक होटल पर होने की सूचना मिली। इस पर पुलिस टीम तुरंत उसे पकडऩे के लिए रवाना हुई और उसे धर-दबोचा। उन्होंने बताया कि आरोपी को अब अदालत में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा। रिमांड के दौरान उससे अपहरण घटना की तस्दीक करवाई जाएगी। अपहर्ताओं ने इन्द्रचंद को कहां-कहां रखा और कहां-कहां ले गए, इस बारे में भी जांच की जाएगी।

5 हजार रुपए का है इनाम –
सोनू पर आरोप है कि वह इन्द्रचंद का अपहरण करने वाले गिरोह में शामिल था। इन्द्रचंद अपहरण मामले के बाद से ही सोनू फरार चल रहा था। सोनू को पकड़वाने के लिए पुलिस ने उस पर 5 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर रखा था। सोनू पर डीडवाना थाना सहित अन्य थानों में भी कई मामले दर्ज है।

बयान बदलवाने के लिए किया गया अपहरण
वर्ष 2014 में दिसम्बर माह में जीवनराम गोदारा हत्याकांड के अहम गवाह प्रमोद के भाई इंद्रचन्द का अपहरण कर लिया गया था। इंद्रचन्द स्वयं भी हत्याकांड में गवाह है। आरोप है कि आनन्दपाल सिंह गैंग के सदस्यों ने प्रमोद के बयान बदलवाने के लिए इंद्रचन्द का अपहरण किया था। इस मामले में पुलिस द्वारा की गई तफ्तीश में 15 लोगों के शामिल होने की बात सामने आई थी। इन आरोपियों में अनुराधा उर्फ अनुराग नामक महिला भी शामिल बताई गई है।। पुलिस जांच में इंद्रचन्द के अपहरण में आनन्दपाल सिंह का हाथ होने की संभावना जताई गई।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY