राम भरोसे चल रहा है जरमुणडी प्रखंड का एक विद्यालय

0
285

school
दुमका : जरमुणडी प्रखंड क्षेत्र के पंचायत काला डुमरिया अंतर्गत उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय खजुरिया खपचुआ भगवान भरोसे हीं चल रहे हैं । 58
छात्रों के बीच मात्र दो शिक्षक गिरधारी राय (सचिव), मुरारी राय सहायक हैं लेकिन देखने में यह आया है कि एक शिक्षक जो सचिव भी हैं वह लगातार स्कूल से नदारद रहते हैं अतः एक ही सहायक शिक्षक पर सभी छात्रों की पढ़ाई निर्भर करती है इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि बच्चों का भविष्य क्या होगा ? सहायक शिक्षक मुरारी राय से जब यह पूछा गया कि सचिव महोदय कहां हैं तो उनका रटा-रटाया जवाब एक ही मिलता था वह किसी काम से बाहर गए हुए हैं जब यही प्रश्न स्कूल के छात्रों से किया गया तो उन्होंने भी अपनी अनभिज्ञता जाहिर की छात्रों से दिन के भोजन के विषय में उन्हें खाने को क्या मिलता है तो बच्चों ने एक स्वर में बताया कि सिर्फ खिचड़ी मिलती है जब उनसे यह पूछा गया अंडा या फल कुछ मिलता है तो उन्होंने एक ही स्वर में जवाब दिया कभी नहीं मिला है वही जब खाना बनाने वाली दो महिलाओं पुतुल देवी उर्मिला देवी से यह जानना चाहा कि ऐसा क्यों होता है कि मेन्यु के आधार पर भोजन क्यों नहीं दिया जा रहा है तो इस पर पुतुल देवी उर्मिला देवी ने कहा कि मास्टर जो देगा हम वही तो बनायेंगे |

इसके बाद उपस्थित छात्रों से जब यह जानना चाहा कि इस विद्यालय का नाम क्या है तो कोई भी छात्र इसका जवाब नहीं दे सका आखिर जवाब दे तो कैसे देक्योंकि जिस विद्यालय का सचिव शह शिक्षक गिरधारी लाल के लिए काला अक्षर भैंस बराबर हो तो भला उस स्कूल के छात्रों से और क्या उम्मीद की जा सकती है ?

सरकार स्कूल के बाबत इतना रूपया खर्च कर रही है बच्चों को निशुल्क भोजन एक समय का दिया जा रहा है पोशाक भी दिया जा रहा है साइकिल भी दी जाती है तो यह सरकार का फर्ज़ नहीं है कि वह जाकर स्कूल का निरीक्षण करें और देखें वहां पर पैसों की क्या दुर्दशा हो रही है यदि यही स्थिति बरकरार रही तब वह दिन दूर नहीं है कि स्कूल से निकले हुए छात्र शिक्षक गिरधारीलाल की तरह काला अक्षर भैंस बराबर की डिग्री लेकर बाहर आयें । विश्वस्त सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई है कि इस स्कूल के सचिव गिरधारी राय स्कूल से इसलिए गायब रहते हैं की उनको पढ़ना – पढ़ाना हीं नहीं आता है ।तो ऐसे व्यक्ति की बहाली शिक्षक के रूप में कैसे हो जाती है ये शिक्षा विभाग ही बता सकता है ।

रिपोर्ट – धनञ्जय सिंह
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY