डॉक्‍टर अब्‍दुल कलाम के जन्‍म स्‍थान रामेश्‍वरम को अमृत शहर घोषित किया गया

0
762

rameshwaram058

तमिलनाडु के रामेश्वरम शहर को बुनियादी शहरी ढांचा उपलब्ध कराने के लिए पुनरुद्धार और शहरी रूपान्‍तरण (अमृत) के लिए अटल मिशन में शामिल किया गया है। आज डीआरडीओ में पूर्व राष्ट्रपति डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम की 84 वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू ने यह घोषणा की।

मंत्रालय ने अब तक अटल मिशन के तहत 497 शहरों और कस्बों की पहचान की है, जिसके तहत 500 शहरों और कस्बों में बुनियादी ढांचे को विकसित किया जाना है। रामेश्वरम इस मिशन में शामिल होने वाला 498 शहर है। रामेश्वरम के शामिल होने से तमिलनाडु के 32 शहर और कस्बे अटल मिशन में शामिल हो जाएंगे।

केंद्रीय मंत्री श्री एम. वेंकैया नायडू, श्री मनोहर पर्रिकर, श्री पोन राधाकृष्णन और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त श्री एन.गोपालस्‍वामी को शामिल करके गठित की गई समिति रामेश्वरम में डॉ. कलाम के स्मारक का ब्‍यौरा तैयार करेगी। यह समिति इस स्‍मारक को अंतिम रूप देने से पहले सभी संबंधित पक्षों से विचार विमर्श करेंगी। तमिलनाडु सरकार ने शहरी विकास मंत्रालय को स्मारक के लिए भूमि उसी स्‍थान पर उपलब्‍ध कराने का आश्‍वासन दिया है, जहां पूर्व राष्ट्रपति के पार्थिव शरीर को दफनाया गया था।

डॉ. अब्‍दुल कलाम की जयंती के अवसर पर बोलते हुए श्री वेंकैया नायडू ने उन्‍हें ऐसा योगी बताया, जो भौतिक जीवन से अलग थे, लेकिन देश और उसकी जनता और उनके भविष्य के बारे में बहुत भावुक रहते थे। वे एक महान वैज्ञानिक होने के साथ-साथ एक आध्यात्मिक व्‍यक्ति भी थे। वे मिसाइल मैन थे, लेकिन हमेशा गरीब लोगों और उनकी समस्याओं के बारे में सोचा करते थे। वे ऐसे राष्‍ट्रपति थे, जो हमेशा छात्रों और युवाओं में ललक पैदा करके उनके सपनों को पंख प्रदान करने के लिए सदैव तत्‍पर रहते थे।

डॉक्‍टर कलाम की इस कहावत कि ‘हमें तभी याद किया जाएगा जब ‘हम अपनी युवा पीढि़यों को एक समृद्ध और सुरक्षित भारत प्रदान करेंगे, जिसके परिणामस्वरूप आर्थिक समृद्धि के साथ-साथ सांस्कृतिक विरासत भी आएगी।‘ श्री नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पूर्व राष्ट्रपति के इस सपने और मिशन को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

four + fifteen =