रेप से जन्में बच्चे का उसके जैविक पिता की संपत्ति में अधिकार होगा : इलाहबाद हाईकोर्ट

0
341

приказ т 11 образец заполнения court

охрана труда понятие целии задачи इलाहाबाद हाई कोर्ट की पीठ ने अपने आदेश में कहा है कि दुष्कर्म के कारण जन्मे बच्चे का अपने जैविक पिता की संपत्ति में अधिकार होता है। कोर्ट ने सुझाव दिया कि इससे जुड़े जटिल सामाजिक मुद्दे को सुलझाने के लिए विधायिका उचित कानून बना सकती है।

http://metalletti.it/mail/metodika-vipolneniya-transkranialnoy-dopplerografii-pri-sosud-patologii.html जस्टिस शबीहुल हसनैन और जस्टिस डीके उपाध्याय की पीठ ने कहा कि दुष्कर्म से जन्मे बच्चे या बच्ची को आरोपी जैविक पिता की नाजायज संतान के तौर पर ही देखा जाएगा। उसका जैविक पिता की संपत्ति में अधिकार होगा।

http://twogethermovie.com/library/planshet-azbuka-v-stihah.html планшет азбука в стихах कोर्ट ने कहा कि अगर बच्चा या बच्ची को कोई गोद ले लेता है तो फिर उसका जैविक पिता की संपत्ति में अधिकार खत्म हो जाता है। पीठ ने सरकार को गुजारा भत्ता के तौर पर 10 लाख रुपए 13 वर्षीय रेप पीड़िता को देने का आदेश दिया। साथ ही सरकार को यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि जब वह बालिग हो जाए तो उसे नौकरी मिले।

стихи про любовь и обман पीड़ित लड़की एक गरीब परिवार से है। इस साल के शुरुआत में उससे दुष्कर्म किया गया, जिससे वह गर्भवती हो गई और हाल ही में उसने एक बच्ची को जन्म दिया है। उसके परिवार को काफी समय के बाद बेटी के गर्भवती होने का पता चला, तब तक कानूनी तौर पर गर्भपात कराने की समय सीमा (21 सप्ताह) खत्म हो चुकी थी।

http://smartmoneyjamaica.com/library/raspisaniya-elektrichki-na-golutvin-na-zavtra.html расписания электрички на голутвин на завтра इस पर उसके परिवार ने गर्भपात कराने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। लेकिन हाई कोर्ट द्वारा बनाए गए डॉक्टरों के पैनल ने इस स्थिति में गर्भपात कराने की सलाह नहीं दी। उन्होंने कहा कि इससे पीड़िता को जान का खतरा है। इस पर पीड़िता ने कहा था कि उसकी बेटी इस शर्म के साथ समाज में जीवित नहीं रह सकती है इसलिए बेहतर होगा कि वह बच्ची को जन्म दे और उसे कोई गोद ले ले।

структура инновационной библиотечно библиографической деятельности कोर्ट ने कहा कि नवजात बच्ची को गोद लेने के लिए दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगर बच्ची को कोई गोद लेता है तो फिर उसका अपने जैविक पिता की संपत्ति में कोई अधिकार नहीं रह जाएगा। लेकिन कोई उस बच्ची को गोद नहीं लेता है तो बिना कोर्ट के निर्देश के ही उसका अपने जैविक पिता की संपत्ति में अधिकार होगा।

в состав северо западного экономического района входит Source – PIB