मानवता को तार-तार कर 9 वर्षीय नाबालिग से जबरन दुष्कर्म

0
128
         प्रतीकात्मक
                                                                      प्रतीकात्मक

उन्नाव : 9 वर्षीय दलित बालिका के साथ अधेड़ ने जबरन दुष्कर्म कर पूरी मानवता को तार तार कर दिया इतना ही नही उक्त वहसी दरिन्दे ने किसी से बताने पर जान से मार डालने की धमकी भी दी। पीड़िता के परिजन खून से लथपथ बच्ची को देखकर डॉक्टरों के पास इलाज हेतु पहुंचे जहां डॉक्टरों ने माजरा देख अपने हाथ खड़े कर दिये और जिला अस्पताल ले जाने की बात कहकर अपनू पल्लू झाड़ा जिस पर माता पिता ने बच्ची से जब दबाव बनाकर पूछा और जब बच्ची ने सारा वाकया बयां किया तो परिजनों के साथ-साथ गांव वालों के भी होश उड़ गये।

प्राप्त विवरण के अनुसार मामला कोतवाली क्षेत्र के गांव मंसाखेड़ा की जहां पीड़िता की मां लक्ष्मी देवी पत्नी राम बालक पासी दोनो ही नाम काल्पनिक ने बताया कि दिनांक 11 फरवरी 2017 को मै पास के मन्दिर मे दर्शन करने गयी थी हमारे पति गावं वालों के साथ चुनाव प्रचार में गये थे मेरे साथ मेरी एक लड़की व पुत्र भी मन्दिर गया था। घर पर मेरी मझली पुत्री कु0 सोनी उम्र 9 वर्ष बदला हुआ नाम जो खेलने के लिये गांव के शिवशंकर पुत्र स्व. महावीर नाई के घर व कारखाने के सामने चली गयी तभी इन्सान रूपी भेड़िया शिवशंकर ने मेरी पुत्री को बुलाकर तरह-तरह के लालच देकर कारखाने के अन्दर बुला लिया, तथा अकेली पाकर उस इन्सान रूपी जानवर ने पुत्री के कपड़े उतार कर जबरन दुष्कर्म किया और किसी से बताने पर जान से मार डालने की धमकी देकर भगा दिया। जब मैं लौटकर वापस घर आई तो बच्ची को खून से लथपथ देख बच्ची से पूछा पर दहशत जदा लड़की ने डर व भय के चलते कुछ भी नहीं बताया परन्तु खून का रिसाव बन्द न होने पर कई प्राइवेट डॉक्टरों को दिखाया फिर भी पुत्री की स्थिति में कोई सुधार नही हुआ। तब हम परिवारीजन पुत्री को लेकर कालूखेड़ा पहुंचे जहां डॉक्टरों ने इलाज करने से मना कर जिला अस्पताल में ले जाने की बात कही जिस पर हमें तथा परिजनो को चिन्ता हुई तो पुत्री से पूछा तो उसने जो हकीकत बयां की उसको सुनकर परिजनो के साथ-साथ ग्रामीणों के भी होश उड़ गये। समाज मे आज भी ऐसे कलयुगी इन्सानरूपी राक्षसों को कोई खौफ नहीं है और पूरी तरह इन्सानियत को कलांकित करने का कार्य कर रहे हैं, वहीं पीड़ित परिवार खून से लथपथ बच्ची को लेकर कोतवाली पहुंचे जहां मां की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने संगत धाराओं में अभियोग दर्ज कर पीड़ित बच्ची को मेडिकल व उपचार हेतु अस्पताल भेजा जहां डॉक्टरों ने बच्ची की गंभीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल के लिये रिफर कर दिया।

​रिपोर्ट – मोहम्मद अहमद

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY